हूल दिवस पर बोले सीएम हेमंत सोरेन, कहा जबतक झारखण्ड रहेगा, शहीदों का नाम स्वर्णाक्षरों में लिखा जाता रहेगा

हूल दिवस पर बोले सीएम हेमंत सोरेन, कहा जबतक झारखण्ड रहेगा, शहीदों का नाम स्वर्णाक्षरों में लिखा जाता रहेगा

RANCHI : मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने हूल दिवस के अवसर पर संताल विद्रोह के नायकों की तस्वीर पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए नमन किया. इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा की विद्रोह का नेतृत्व करने वाले सिदो, कान्हू, चांद, भैरव, फूलों और झानों के साथ-साथ विद्रोह में शहादत देने वाले सभी वीरों का बलिदान सदैव झारखण्डवासियों को प्रेरित करेगा. उन्होंने कहा की यह महत्वपूर्ण दिवस है. 

कोरोना संक्रमण के इस दौर में कार्यक्रम करना संभव नहीं था. व्यक्तिगत रूप में लोग इस दिवस को मना रहें हैं. उम्मीद करता हूं, जबतक झारखण्ड रहेगा शहीदों का नाम स्वर्णाक्षरों में लिखा जाता रहेगा. सभी झारखण्डवासी इस गौरवपूर्ण दिवस के अवसर पर वीर शहीदों को स्मरण करें, ताकि आने वाली पीढ़ी वीरों की वीर गाथा से अवगत और गौरवान्वित हो सके. आइये मिलकर शहीदों के सपनों को साकार करें. 

बताते चलें की 30 जून 1855 को क्रांतिकारी नेता सिदो और कान्हू मुर्मू के आह्वान पर राजमहल के भोगनाडीह में 20 हजार संतालों ने ब्रिटिश हुकूमत के खिलाफ विद्रोह किया था. शहीद सिदो-कान्हू, चांद-भैरव की जन्मस्थली भोगनाडीह में हर साल हूल दिवस पर बड़े स्तर पर कार्यक्रम होता रहा है. 

जिला प्रशासन की ओर से विकास मेला भी लगाया जाता रहा है. मुख्यमंत्री या सरकार का कोई मंत्री मुख्य अतिथि होता था. लेकिन कोरोना संक्रमण को लेकर इस बार कोई कार्यक्रम नहीं करने का फैसला किया गया है. 

रांची से मोईजूद्दीन की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News