चीफ जस्टिस बोले "शैतान का टीका" है कोरोना वैक्सीन, वैज्ञानिकों ने की कड़ी आलोचना

चीफ जस्टिस बोले "शैतान का टीका" है कोरोना वैक्सीन, वैज्ञानिकों ने की कड़ी आलोचना

N4N DESK : दुनिया के तक़रीबन सभी देशों में कोरोना का कहर जारी है. इस बीच राहत की खबर है की काफी मशक्कत के बात कोरोना के वैक्सीन का इजाद कर लिया गया है. ब्रिटेन की महिला को इसका पहला टीका दिया जा चुका है. इस बीच दक्षिण अफ्रीका के चीफ जस्टिस मोगोइंग मोगोइंग ने कोरोना वायरस की वैक्सीन को लेकर अजीबोगरीब बयान दिया है. मोगोइंग ने कहा है कि विश्व भर में जिस टीके से उत्साह का संचार हो रहा है वह शैतान के पास से आया है. उन्होंने इसे शैतान का टीका बताया है. 

दरअसल सोशल मीडिया में एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें न्यायाधीश मोगोइंग एक गिरजाघर में प्रार्थना करते नजर आ रहे हैं. इस दौरान वह दावा करते हैं कि टीका लोगों के डीएनए को खराब कर देगा. उन्होंने अपनी प्रार्थना में कहा कि जो आपकी (ईश्वर) तरफ से नहीं है, ऐसे किसी भी टीके से मैं खुद को दूर करता हूं. अगर कोई टीका है तो वह शैतान की तरफ से है, जिसका मकसद लोगों के जीवन में ट्रिपल सिक्स (शैतान का चिह्न) लाना है और यह उनके डीएनए को खराब करेगा. 


मोगोइंग की इन बातों से वैज्ञानिकों और अन्य लोगों में गुस्सा है और उनका कहना है कि मोगोइंग जैसे प्रभावशाली व्यक्ति की तरफ से इस प्रकार की बातें टीके का इंतजार कर रहे लोगों को भ्रमित कर सकती हैं. हालाँकि चीफ जस्टिस ने अपने बयान का बचाव करते हुए कहा है कि यह आजाद मुल्क है और मुझे चुप नहीं कराया जा सकता.

Find Us on Facebook

Trending News