शराबबंदी कानून पर चिराग का तीखा प्रहार, कहा- रोजगार के अभाव में बिहारी शराब तस्करी की तरफ बढ़ रहे हैं

शराबबंदी कानून पर चिराग का तीखा प्रहार, कहा- रोजगार के अभाव में बिहारी शराब तस्करी की तरफ बढ़ रहे हैं

पटना... 2016 में बिहार के अंदर शराबबंदी कानून लाया गया था, लेकिन कानून लगने के बाद भी शराब की बिक्री धड़ल्ले से हर क्षेत्र में हो रही है। पुलिस हो या आबकारी विभाग इस पर रोक लगाने में पूरी तरह से अब तक विफल ही रहा है। शराबबंदी कानून का मुद्दा अब चुनाव में भी गहराने लगा है। इस बीच चिराग पासवान ने भी कहा है कि शराबबंदी के नाम पर बिहारियों को तस्कर बनाया जा रहा है। 

लोजपा प्रमुख चिराग पासवान ने कहा कि बिहार की माताएं-बहनें अपनों को तस्कर बनते नहीं देखना चाहती हैं। बिहार के मुख्यमंत्री के संग सभी मंत्रियों को पता है कि बिहारी रोजगार के अभाव में शराब तस्करी के तरफ बढ़ रहा है, लेकिन सब के सब को मानों सांप सूंघ लिया है। 

बता दें कि शराबबंदी को लेकर कांग्रेस ने भी अपने घोषणापत्र में सवाल उठाए थे और कहा था कि अगर हमारी सरकार आएगी तो शराबबंदी कानून पर समीक्षा की जाएगी। 


Find Us on Facebook

Trending News