श्रमिक नेता अनिल श्रीवास्तव ने थामा रालोसपा का दामन, कहा गरीब विरोधी है केंद्र और राज्य की सरकार

श्रमिक नेता अनिल श्रीवास्तव ने थामा रालोसपा का दामन, कहा गरीब विरोधी है केंद्र और राज्य की सरकार

GAYA : राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा के नीतियों से प्रभावित होकर चर्चित समाजसेवी और श्रमिक नेता अनिल श्रीवास्तव ने अपने समर्थकों के साथ पार्टी का दामन थाम लिया. पार्टी के प्रदेश महासचिव विनय कुशवाहा ने उन्हें पार्टी की सदस्यता ग्रहण करवाया.

इस मौके पर कुशवाहा ने कहा कि वर्तमान राज्य एवं केंद्र की सरकार गरीब विरोधी सरकार है. 15 वर्षों के शासनकाल में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गरीबों मजदूरों के लिए कुछ नहीं किया. आज भी करोड़ों की संख्या में युवा बेरोजगार हैं. रोजगार के अभाव में दर दर की ठोकर खा रहे हैं. बिहार में जिस तरह से आज अराजकता का माहौल है. इससे पूरे बिहार के लोग लाचार हैं. 15 वर्षों के शासनकाल में एक भी कल कारखाने की स्थापना नहीं हुई. किसानों मजदूरों की हालत बद से बदतर है. शिक्षा, स्वास्थ्य और कानून व्यवस्था की हालत इतनी बिगड़ी हुई है कि आम आदमी लाचार और बेबस है. 


उन्होंने कहा की रेलवे का निजीकरण किया जा रहा है. मध्यम वर्गीय परिवार के लड़के काफी संख्या में रेलवे में नौकरी पाते थे. लेकिन केंद्र की सरकार ने रेलवे का निजीकरण करके मध्यम वर्गीय परिवार के पेट पर लात मारने का काम किया है. खासकर बिहार के करोड़ों युवा रेलवे में नौकरी करते थे. लेकिन जिस तरह से नरेंद्र मोदी ने रेलवे को निजीकरण किया है. यह ओबीसी, एससी, एसटी के लोगों को आरक्षण से वंचित करने का सबसे बड़ा साजिश है. क्योंकि निजी क्षेत्र की नौकरियां में आरक्षण नहीं है. इसी साजिश के तहत विभिन्न उपक्रमों के निजीकरण का काम केंद्र की सरकार तेजी से कर रही है.

श्रमिक नेता अनिल श्रीवास्तव ने कहा कि केंद्र की सरकार गरीब विरोधी सरकार है और इस सरकार में किसान मजदूर ठेले पर सामान बेचने वाले बिहारी मजदूर रेलवे में काम करने वाले दिहाड़ी मजदूर हॉकर्स सभी बेरोजगार हो चुके हैं. कोरोना के नाम पर गरीब मजदूरों को बेरोजगार कर दिया गया है. केंद्र की सरकार ने आज गरीब मजदूर और उनके बाल बच्चे को भूखे रहने को विवश कर दिया हैं. 

इस मौके पर रवि कुमार, विजय प्रसाद, कन्हाई राम, दीपू प्रसाद ने भी रालोसपा की सदस्यता ग्रहण किया.

गया से मनोज कुमार की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News