SHEIKHPURA NEWS: मजदूरों के बच्चों के बीच शिक्षा की अलख जगा रहे भारत सरकार के अभियंत्रण अधिकारी, लोगों के बीच दी जा रही इनकी मिसाल

SHEIKHPURA NEWS: मजदूरों के बच्चों के बीच शिक्षा की अलख जगा रहे भारत सरकार के अभियंत्रण अधिकारी, लोगों के बीच दी जा रही इनकी मिसाल

शेखपुरा जिले के बरबीघा थाना क्षेत्र के माउर गांव निवासी रवि रंजन कुमार गांव के बच्चों के बीच शिक्षा की अलख जगा रहे हैं. शिक्षा कितनी महत्वपूर्ण है और शिक्षा की सीढ़ियों को चढ़कर इंसान कितनी तरक्की कर सकता है, यह बात रवि रंजन कुमार अच्छी तरह से समझते हैं. चिमनी पर काम करने वाले मजदूर के बच्चों को इकट्ठा कर उन्हें पढ़ा ने बीड़ा इन्होनें उठाया है. इनके इस प्रयास की सराहना पूरे गांव में हो रही है और अन्य लोग भी  आगे आकर इनकी मदद कर रहे हैं.


सबसे पहले आपको बता दें कि बच्चों को पढ़ाने वाले यह शख्स कोई आम व्यक्ति नहीं है, बल्कि यह वर्तमान में भारत सरकार के प्रधानमंत्री सड़क सुरक्षा योजना के महाप्रबंधक प्रयोजन सह सतर्कता अधिकारी जैसे शीर्ष पद पर कार्यरत हैं. इनका नाम रवि रंजन कुमार है. इतने बड़े पद पर काबिज रहने के बावजूद भी बच्चों के प्रति स्नेह और शिक्षा के प्रति प्रेरित करने वाले अभियंत्रण अधिकारी छुट्टी के दिनों में बच्चों को पढ़ाई के प्रति जागरूक कर रहे हैं. फिलहाल रवि रंजन कुमार अपनी छुट्टी के दिनों को बिताने अपने पैतृक गांव माउर आए हुए हैं जहां उन्होनें खाली समय का सदुपयोग करने का सोचा.

उन्होनें बताया कि गांव आने के बाद उन्होनें पूरे गांव का जायजा लिया और पाया कि चिमनी पर काम करने वाले मजदूरों के बच्चे खाली वक्त यूं ही बिता देते हैं. उन्हें देखकर उनके मन में विचार आया कि इन बच्चों को पढ़ाया जाए. उन्होनें यह भी बताया कि चिमनी के मालिक ने भी बच्चों की पढ़ाई की व्यवस्था की है जिसमें वो शामिल होकर इस नेक कार्य को बढ़ावा दे रहे हैं.  रवि रंजन सभी बच्चों को कॉपी, कलम,पेंसिल के साथ चॉकलेट देते हैं और उन्हें बड़े स्नेह से पढ़ाते हैं. इस नेक कार्य में कई हाथ आगे बढ़े हैं और सभी मिलकर बच्चों को शिक्षित कर रहे हैं. रविरंजन के इस प्रयास से बच्चो में काफी प्रसन्नता देखी जा रही है. रवि रंजन कहते हैं कि जो आनंद गांव में इस तरह के कामों में मिलता है इसका वर्णन शब्दों में नहीं किया जा सकता है.

Find Us on Facebook

Trending News