शिक्षा मंत्री के भाई को मिली आजीवन कारावास की सजा, इस राज्य का है मामला

शिक्षा मंत्री के भाई को मिली आजीवन कारावास की सजा, इस राज्य का है मामला

बोकारो। हत्या के छह साल पुराने मामले में झारखंड के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो के भाई बैजनाथ महतो को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई है। कोर्ट ने बैजनाथ महतो सहित कुल सात लोगों के खिलाफ अपना फैसला सुनाया है। उक्त निर्णय तेनुघाट व्यवहार न्यायालय के जिला जज प्रथम राजीव रंजन की अदालत में लिया गया।  हालांकि अब दोषियों के वकील ने कहा है कि वह इस फैसले के खिलाफ हाईकोर्ट में अपील दायर करेंगे।

अलारगो के संतोष पांडेय हत्याकांड मामले में तेनुघाट सिविल कोर्ट ने जिन 7 अभियुक्तों को आजीवन कारावास की सजा सुनायी, उसमें झारखंड के शिक्षा मंत्री जगन्नाथ महतो के भाई बैजनाथ महताे, गणेश भारती, नेमी पूरी, कैलाश पुरी, जितेंद्र पुरी, नीरज पुरी एवं केवल महतो शामिल हैं. 

जनता दरबार में पिटकर की गई थी हत्या

मामला छह साल पुराना है। जब नावाडीह थाना क्षेत्र के अलारगो में 20 मार्च, 2014 को शिक्षा मंत्री के घर के पास संतोष पांडेय की हत्या की यह घटना हुई थी। मामले में मृतक के भाई अनंत लाल पांडे ने अपने आवेदन में बताया था कि  डुमरी विधायक जगन्नाथ महतो के आवास से थोड़ी दूर पर स्थित मंदिर के समीप जनता दरबार स्थल के सामने घटना को अंजाम दिया गया था. विधायक के भाई बैजनाथ महतो की अगुवाई में जितेंद्र पुरी, नेमी पूरी, गणेश भारती, कैलाश पुरी, केवल महतो, मेघलाल पुरी, सूरज पूरी द्वारा अमानवीय ढंग से बुरी तरह से पीटा गया.उसके बाद इलाज के लिए डीवीसी अस्पताल में भर्ती कराया गया. इलाज के दौरान उसकी मृत्यु हो गयी।

शिक्षा मंत्री पर भी लगे थे आरोप

मृतक के भाई ने आरोप लगाया था कि शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो घटना के वक्त विधायक खुद उपस्थित थे. उनके ललकारने पर उपरोक्त लोगों द्वारा सूचक के भाई को मारते- मारते बेहोश कर दिया गया.अनुसंधान के क्रम में 10 अभियुक्तों के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया. विधायक को भी तब इस मामले में अभियुक्त बनाया गया था, लेकिन घटना के तत्काल बाद अनुसंधान (एसआईटी जांच) के क्रम में उनके विरुद्ध कोई साक्ष्य नही मिलने पर उन्हे इस मामले से क्लिन चिट दे दिया गया.


Find Us on Facebook

Trending News