विपक्षी एकता को झटका : TMC को विपक्ष में कांग्रेस का नेतृत्व नहीं मंजूर, बैठक में शामिल होने से किया इनकार

विपक्षी एकता को झटका : TMC को विपक्ष में कांग्रेस का नेतृत्व नहीं मंजूर, बैठक में शामिल होने से किया इनकार

Desk. संसद में शीतकालीन सत्र शुरू होने से पहले ही विपक्षी एकता को बड़ा झटका लगा है. टीएमसी ने कांग्रेस की बैठक में शामिल होने से इनकार कर दिया है. दरअसल शीतकालीन सत्र में सरकार को घेरने के लिए विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे विपक्षी दलों की बैठक बुलायी थी. इसमें टीएमसी ने शामिल होने इनकार कर दिया है. बता दें कि टीएमसी ने कंग्रेस के कीर्ति झा आजाद और अशोक तंवर को अपनी पार्टी में शामिल करकर कांग्रेस को पहले ही झटका दे चुकी है. इसके बाद अब कांग्रेस के नेतृत्व में विपक्ष की बैठक में शामिल होने से मना कर दिया है.

टीएमसी को कांग्रेस का नेतृत्व मंजूर नहीं

टीएमसी की चुनावी गतिविधियों को देखे तो ऐसा लगता है कि टीएमसी विपक्ष का मुख्य चेहार चेहरा बनने की तैयारी में जुटी है. यही कारण है कि टीएमसी ने एक-एक करके अपने पत्ते खोलने शुरू कर दिए हैं. पहले कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता कीर्ति आजाद और अशोक तंवर को अपने पाले में करके टीएमसी ने इसका सबूत दे दिया था और कांग्रेस द्वारा बुलाई गई विपक्षी दलों की बैठक में भी टीएमसी शामिल नहीं हो रही है. तृणमूल कांग्रेस के सांसद सुदीप बनर्जी ने इसकी पुष्टि की है.

भाजपा का विकल्प बनने के लिए जमीन तलाश रही

राजनैतिक जानकारों का कहना है कि तृणमूल कांग्रेस ने 2024 लोकसभा चुनावों के लिए अभी से तैयारी शुरू कर दी है. यही कारण है कि टीएमसी पश्चिम बंगाल से बाहर निकलकर अन्य राज्यों पर अपना ध्यान केंद्रित कर रही है और अन्य पार्टियों के बड़े नेताओं को अपने पक्ष में कर रही है. पश्चिम बंगाल और त्रिपुरा में तो भाजपा को भी पार्टी ने कई झटके दिए हैं. वहीं भाजपा से नाराज चल रहे कुछ वरिष्ठ नेता भी टीएमसी के पक्ष में बयानबाजी कर रहे हैं. ऐसे में कहा जा रहा है कि पार्टी 2024 चुनाव में विपक्ष का मुख्य चेहरा बन भाजपा से दो-दो हाथ करने के मूड में है.


Find Us on Facebook

Trending News