शूटआउट@बेगूसराय : बिहार पुलिस ने बता दिया क्यों और कैसे हुआ सुशासन में इतना बड़ा गोलीकांड, अपराधियों का यह था मकसद

शूटआउट@बेगूसराय : बिहार पुलिस ने बता दिया क्यों और कैसे हुआ सुशासन में इतना बड़ा गोलीकांड, अपराधियों का यह था मकसद

पटना. बेगूसराय गोलीकांड में अपराधियों को पकड़ने के लिए बिहार पुलिस ने बड़े स्तर पर अभियान चलाया है. वहीं इस घटना के पीछे के कारणों पर भी पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है. एडीजी मुख्यालय जितेंद्र सिंह गंगवार ने बुधवार को कहा कि घटना के पीछे किसी खास व्यक्ति को निशाना बनाना लक्ष्य नहीं था. बाइक सवार अपराधी ने करीब 30 किलोमीटर के दायरे में राह चलते आम लोगों को निशाना बनया. इसलिए यह घटना न तो किसी खास व्यक्ति को गोली मारने से जुड़ा है और ना ही लूटपाट से जुड़ा मामला है. किसी व्यक्ति विशेष को मारने का अपराधियों का मकसद नहीं था. ना ही किसी से बदले की भावना से यह गोलीबारी की गई. 

उन्होंने कहा कि घटना के दौरान पुलिस की गश्त गाडियां सड़क पर मौजूद थी. लेकिन पहली घटना के बाद पुलिस को इसकी सूचना मिलने में करीब 10 से 15 मिनट का समय लगा. वहीं दोनों बाइक सवार आधे घंटे में ही लंबी दूरी तय करते हुए लोगों को निशाना बनाते हुए फरार हो गए. इसलिए जब तक पुलिस ने तमाम थानों को अलर्ट किया और अपराधियों को पकड़ने के लिए कार्रवाई शुरू हुई तब तक अपराधी फरार हो चुके थे. 

अपराधियों को पकड़ने की कार्रवाई पर उन्होंने कहा कि गोली चलाने वाले दोनों अपराधियों को पकड़ने के लिए बड़े स्तर पर कार्रवाई की गई है. पुलिस ने गंभीर धाराओं में मामला दर्ज किया है. साथ ही गश्त दल में शामिल सात पुलिसकर्मियों को निलंबित किया गया है. उन्होंने कहा कि जो अपराधी जेल में हैं और जो इन दिनों बाहर हैं उन सबसे इस घटना के लिंक तलाशे जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि यह मामला दहशत पैदा करने से हो सकता है. 

साथ ही पुलिस ने सीसीटीवी को भी खंगाला शुरू किया है. वहीं गोलीकांड में घायल हुए 10 में से 8 की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है. शेष 2 को भी बेहतर उपचार दिया जा रहा है. इस घटना में एक व्यक्ति की मौत हुई है. हालांकि घटना के 12 घंटे से ज्यादा बीत जाने पर भी अब तक पुलिस के हाथ खाली हैं. पुलिस फ़िलहाल किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंची है. ना ही अपराधियों की कोई पहचान हुई है. 


Find Us on Facebook

Trending News