DARBHANGA NEWS : शराब माफियाओं ने ली पवन मिश्रा की जान, कैडिल मार्च निकालकर लोगों ने लगायी न्याय की गुहार

DARBHANGA NEWS : शराब माफियाओं ने ली पवन मिश्रा की जान, कैडिल मार्च निकालकर लोगों ने लगायी न्याय की गुहार

DARBHANGA : बहादुरपुर थाना क्षेत्र के खराजपुर पंचायत में बीते 20 नवंबर 2020 को दारू माफियाओं के द्वारा निर्दोष पवन मिश्रा को चाकुओं से गोद दिया गया था. इस मामले को लेकर बहादुरपुर कांड संख्या 525 /20 दर्ज किया गया था और पांचों आरोपी को पकड़ कर जेल भेज दिया गया था. इस घटना से पहले भी  अपराधी कई बार दारू कांड में जेल जा चुके हैं. घायल पवन मिश्रा को इलाज के लिए परिजन डीएमसीएच ले गए. लेकिन स्थिति नाजुक होने के कारण उसे पीएमसीएच भेजा गया. उसके बाद भी दिन प्रतिदिन पीड़ित की तबीयत बिगड़ती चली गई. 

आनन-फानन में परिजन के द्वारा पारस हॉस्पिटल में इलाज कराया गया. वहां इलाज कराने के बाद आरबी मेमोरियल में उसका इलाज चल रहा था. लेकिन पवन अपनी जिंदगी की जंग लड़ते हुए आख़िरकार 26 मार्च के रात्रि में 12:00 बजे दम तोड़ दिया. बताते चलें की इस घटना को लेकर खराजपुर के ग्रामीण काफी गुस्से में दिखे और 27 तारीख के शाम को सैकड़ों की संख्या में खराजपुर से कैंडल मार्च निकालकर धरना स्थल होते हुए एसपी कार्यालय तथा डीएम कार्यालय होते हुए टावर चौक पर कैंडल जलाया गया. 

उसके बाद जिला प्रशासन को आगाह किया कि जल्द से जल्द स्पीडी ट्रायल चला कर गुनाहगारों को फांसी की सजा मिले. साथ ही मृतक के परिजनों को नौकरी मिले. क्योंकि मृतक के घर में कोई भी कमाने वाला नहीं है. तीन छोटे-छोटे बच्चे हैं. जिसके परिवार का परवरिश आगे कौन करेगा. यह सरकार को सोचना पड़ेगा. इधर बिहार सरकार नें दारू माफिया के खिलाफ नकेल कस रही है. उधर दारू माफिया अब गुस्से में आकर आम आदमी को मौत के घाट उतार रहे है. सरकार को यह भी देखना होगा कि अगर निर्दोष आदमी को दारू माफिया मारता है तो उसके परिवार को क्षति पूर्ति दे और अपराधी को कड़ी से कड़ी सजा मिले. 

दरभंगा से वरुण ठाकुर की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News