बड़ी खबर: ट्रेन संचालन में गृह मंत्रालय की सलाह जरूरी, केंद्र ने जारी की नई गाइडलाइन

बड़ी खबर: ट्रेन संचालन में गृह मंत्रालय की सलाह जरूरी, केंद्र ने जारी की नई गाइडलाइन

PATNA: देश में लागू लॉकडाउन के बीच प्रवासी लोगों की घर वापसी तेज़ हो गई है. रेलवे राज्देयों के सहयोग से देश के अलग-अलग शहरों से श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चल रही है जिसमें लाखों लोग अपने घर जा चुकें है वहीं अभी भी लाखों लोग परेशान है और अभी भी इंतजार कर रहें हैं. इस बीच केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से मंगलवार को ताज़ा दिशा निर्देश जारी किए गए हैं, जिनका ध्यान श्रमिक ट्रेनों के संचालन के वक्त रखना होगा.

गृह मंत्रालय की नई गाइडलाइन्स...

1. सभी श्रमिक ट्रेनों का संचालन रेलवे मंत्रालय करेगा, लेकिन इसके लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय से चर्चा करनी होगी.

2.सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को नोडल अधिकारियों की नियुक्ति करनी होगी, जो मजदूरों के आने-जाने की व्यवस्था देखेंगे.

3.ट्रेन का समय, स्टोपेज रेल मंत्रालय की तय करेगा. लेकिन इसके लिए संबंधित राज्य सरकार की मांग का ध्यान रखना होगा, उसी के हिसाब से ट्रेन के आने-जाने का वक्त तय करें.

4. ट्रेन का शेड्यूल, एंट्री और एग्जिट के नियम, कोच में मिलने वाले सामान, टिकट बुकिंग की सारी तैयारी रेलवे करेगा.

5. हर यात्री की स्क्रीनिंग करना आवश्यक है, जिसमें कोरोना के लक्षण हो उसे यात्रा ना करने दें.

6. यात्रा के वक्त और स्टेशन पर रहने के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग मेन्टेन करें.

7. अपनी मंजिल पर पहुंचने के बाद यात्रियों को उस राज्य की गाइडलाइन्स का पालन करना होगा.

गौरतलब है कि रेलवे के मुताबिक देश में अबतक एक हजार से अधिक श्रमिक ट्रेनें चलाई जा चुकी हैं, जिसके माध्यम से करीब 15 लाख मजदूरों को उनकी मंजिल तक पहुंचाया जा चुका है. हालांकि, इसके बावजूद बड़ी संख्या में मजदूरों को सड़क पर चलते हुए देखा जा सकता है. बिहार यूपी बोर्डर के साथ देश भर में यही कहानी है. कई हादसे भी हो चुके हैं जिसके बाद पूरा प्लान बनाया गया है. 

ट्रेनों के संचालन को लेकर कई बार राज्य और केंद्र सरकार आमने-सामने आई हैं. क्योंकि जिस राज्य से ट्रेन जानी है और जहां पर जानी है ऐसे में उन दोनों राज्यों की सहमति लेना जरूरी है.


Find Us on Facebook

Trending News