श्रावणी मेले में दुकानों पर नहीं मिलेगा नकली प्रसाद, मोबाइल फ़ूड सेफ्टी ने शुरू किया ऑन द स्पॉट जांच

श्रावणी मेले में दुकानों पर नहीं मिलेगा नकली प्रसाद, मोबाइल फ़ूड सेफ्टी ने शुरू किया ऑन द स्पॉट जांच

DEVGHAR : देवघर में श्रावणी मेले की शुरुआत हो चुकी है. इसके मद्देनजर वहाँ भक्तों की भारी भीड़ जुट रही है. लोग खाने-पीने के लिए यहाँ के दुकानदारों पर आश्रित हैं. ऐसे में भीड़ को देखते हुए वहाँ नकली सामानों के बेचे जाने की आशंका भी बनी रहती है. 

इस तरह की हरकत पर रोक लगाने के लिए शनिवार को खाद्य पदार्थ बेच रहे दुकानों की जांच शुरू हो गई है. इससे नकली सामान बेचने वाले दुकानदारों में खलबली मच गई है. देवघर श्रावणी मेले में फूड सेफ्टी के तहत मोबाइल फूड सेफ्टी के अधिकारी अब प्रसाद के दुकानों, होटल, रेस्टोरेंट और ढाबे की ऑन द स्पॉट जांच करेंगे. इसके किये अधिकारियों की एक टीम रांची से देवघर आ चुकी है. 

यहाँ आने के बाद उन्होंने सबसे पहले देवघर के कई पेड़ा व्यवसायियों के दुकानों का औचक जांच किया. इस मौके पर कई दुकानों में प्रसाद के सैम्पल भी लिए गए. जांच अधिकारी चतुर्भुज मिश्र ने कहा कि पहले यहां फूड इंस्पेक्टर की ओर से जांच की जा चुकी है. 

लेकिन इस मोबाइल में नेट के जरिए पहले स्टेज में या पता लग जाता है कि इसमें कुछ गड़बड़ी है या नहीं. उसके बाद सैंपल को रांची भेज दिया जाता है. जहां यह तय होता है कि जांच के उपरांत इसमें किस तरह की मिलावट है. बताते चले की इसके पहले श्रावणी मेले में फूड इंस्पेक्टर जांच करते थे और सैंपल को धनबाद और रांची भेज दिया जाता था. 

रिपोर्ट आते आते मेला खत्म हो जाता था. दोषी दुकानदार जांच रिपोर्ट आने के पहले ही फरार हो जाते थे. इस बार भक्तों को गुणवत्तापूर्ण खाद्य पदार्थ और प्रसाद दिलाने के लिए प्रशासन ने यह पहल की है. जिससे जांच करते ही पता चल जाता है कि इसमें मिलावट है या नहीं. इस कार्रवाई से दुकानदारों में हड़कंप है जबकि शुद्ध पेड़ा और खाद्य सामग्री बेचने वाले काफी खुश हैं.

देवघर से सुनील की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News