अगर आपको भी है ये बीमारियां तो भूल कर भी ना खाएं तरबूज

अगर आपको भी है ये बीमारियां तो भूल कर भी ना खाएं तरबूज

गर्मियों में तरबूज आपको तरोताज़ा कर देती है, एक फ्रेशनेस ले आती है. तरबूज केवल तरोताज़ा ही नहीं करती आपके सेहत पर भी काफी असर करता है, तरबूज में विटामिन,मिनरल्स और एंटीऑक्सिडेंट भरपूर मात्रा में मौजूद होता है जो हमें सेहतमंद बनाता है। लेकिन विशेषज्ञों के अनुसार एक व्यस्क को दिन भर में 300 ग्राम तक तरबूज का सेवन करना चाहिए.

हालांकि, यह फल सबके लिए फायदेमंद नहीं है. हाल ही में एक रिसर्च में पाया गया है की कुछ लोगों के लिए तरबूज खाना जहर के बराबर होता है. 

SIDE-EFFECT-OF-WATERMELON2.jpg

मधुमेह के रोगियों - खाने वाली किसी भी चीज में मौजूद चीनी आपके शरीर में मौजूद खून में कितनी जल्दी घुल सकती है इसका मापदंड ग्लाइसेमिक इंडेक्स द्वारा किया जाता है। 100 के स्केल पर तरबूज का ग्लाइसेमिक इंडेक्स 70 होता है। इसमें नैचुरल शुगर भी भारी मात्रा में पाया जाता है. मधुमेह रोगियों के लिए तरबूज ज़हर समान होता है.

किडनी प्रॉब्लम: विशेषज्ञों के अनुसार तरबूज में पानी भारी मात्रा में पाया जाता है. जिन लोगों की किडनी इस हद तक खराब हो चुकी है कि उनके शरीर में यूरीन बन भी नहीं पा रहा, उन्हें यह फल खाने से बचना चाहिए। तरबूज का पानी शरीर में यूरिन में नहीं बदल पाता है, और इसके कारण हार्ट प्रॉब्लम हो सकता है.

अस्थमा: अस्थमा के रोगियों को ठंडी चीजों के सेवन से दूर रहने की सलाह दी जाती है. तरबूज में पानी की मात्रा बहुत होती है, लिहाजा अस्थमा के रोगियों को इसे खाने की मनाही होती है. तरबूज में अमीनो एसिड होता है तो अस्थमा के लिए काफी हानिकारक होता है. 

Find Us on Facebook

Trending News