झारखण्ड में पुलिस के लिए सिरदर्द बने बंगाल के सिम कार्ड, अपराधी कर रहे है इस्तेमाल

झारखण्ड में पुलिस के लिए सिरदर्द बने बंगाल के सिम कार्ड, अपराधी कर रहे है इस्तेमाल

GIRIDIH : साइबर अपराध को रोकने को लेकर शुक्रवार को पुलिस लाईन में टेलीकॉम कंपनियों के प्रतिनिधियों और नोडल पदाधिकारियों के साथ बैठक का आयोजन किया गया. एसपी अमित रेणु के अध्यक्षता में हुए बैठक में जिओ, एयरटेल, वोडाफोन और आईडिया कंपनी के नोडल पदाधिकारी मौजूद थे. बैठक में डीएसपी संदीप सुमन समदर्शी और साइबर इस्पेंक्टर सहदेव प्रसाद समेत कई पुलिस पदाधिकारी मौजूद थे. करीब डेढ़ घंटे तक चली बैठक के दौरान एसपी अमित रेणु और डीएसपी संदीप सुमन ने इन कंपनियों के प्रतिनिधियों से जानकारी लिया कि आखिर गुमराह करने वाले संदेश भेजने वाली कंपनियों के पास से आम नागरिकों के मोबाइल नंबर किस प्रकार पहुंच रहे है. 

जिनके झांसे में आ कर लोग पैसे गंवा रहे है. हालांकि पुलिस अधिकारियों के इन सवालों के जवाब किसी टेलीकॉम कंपनी के नोडल पदाधिकारी के पास तो नहीं थे. लेकिन एसपी ने इन कंपनियों के नोडल पदाधिकारी को सुझाव दिया कि हर हाल में टेलीकॉम कंपनी जानकारी लेकर रोक लगाने का प्रयास करे. बैठक में कंपनी के नोडल पदाधिकारियों को यह भी जानकारी दिया गया कि जिले के दुकानदारों को पश्चिम बंगाल से फर्जी सीम कार्ड ग्राहकों को बेंचने के लिए उपलब्ध कराएं जा रहे है. बंगाल के फर्जी सीम कार्ड से ही गिरिडीह में साइबर अपराध करने वालों का नेटवर्क मजबूत हुआ है. 


इस दौरान साइबर डीएसपी ने साइबर थाना कांड संख्या 04/20 का जिक्र करते हुए कहा कि इस केस में सीम कार्ड स्वैपिंग धोखाधड़ी कर तीन भुक्तभोगियों से पांच लाख का ठगी किया गया. इसमें अनुसंधान के क्रम में सीम कार्ड विक्रेताओं से भी पूछताछ किया गया. जिसमें बंगाल के सीम कार्ड लेने के लिए साइबर अपराधियों ने धोखाधड़ी किया. लेकिन अपराध के बाद इन फर्जी सीम कार्ड के दस्तावेजों खंगाला गया. लेकिन सीम कार्ड का इस्तेमाल करने वालों की पहचान नहीं हो पाई. बैठक में कंपनी के नोडल पदाधिकारियों से यह भी बताया गया कि विक्रेताओं से पूछताछ में यह भी बात समने आई कि एयरटेल के सीम कार्ड का इस्तेमाल किया गया. लेकिन एयरटेल के सॉफ्टवेयर में गड़बड़ी होने के कारण सीम कार्ड का इस्तेमाल कर अपराध करने वाले अपराधियों की पहचान नहीं हो पाई. लिहाजा, एसपी और डीएसपी ने बैठक में मौजूद एयरटेल कंपनी के नोडल पदाधिकारी को नोटिस जारी कर शोकाज कर जवाब मांगा गया. 

गिरिडीह से चन्दन पाण्डेय की रिपोर्ट 


Find Us on Facebook

Trending News