सीतामढ़ी पुलिस की बड़ी कार्रवाई, 7 लाख की नशीली दवाओं को किया जब्त, दो गिरफ्तार

सीतामढ़ी पुलिस की बड़ी कार्रवाई, 7 लाख की नशीली दवाओं को किया जब्त, दो गिरफ्तार

SITAMARHI : बिहार की सीतामढ़ी में पुलिस ने नशीली दवाइयों के बड़े रैकेट का पर्दाफाश करते हुए 7 लाख की नशीली दवाईयां जब्त की है। वही पुलिस ने रैकेट के दो लोगो को भी गिरफ्तार भी किया है। बता दे की शनिवार की दोपहर गुप्त सूचना के आधार पर प्रशिक्षु डीएसपी खुशरू सिराज की नेतृत्व में एस एसआई ललन सिंह ने गश्ती के दौरान भारत नेपाल सीमा क्षेत्र के सोनबरसा बॉर्डर के समीप से नशीली दवा के साथ एक को गिरफ्तार किया है। हिरासत में लिए सोनबरसा निवासी विजय ने नशीली दवा बिक्रेता का नाम का खुलासा भी किया है। 

पुलिस ने विजय के निशानदेही पर स्थानीय साहू मुहल्ला में संचालित नरेश मेडिकल हॉल के संचालक नरेश साह को अपने हिरासत में लेकर छापेमारी की।  छापेमारी के दौरान 22 कार्टून में रखे विभिन्न कम्पनी के कफ सिरफ (कोरेक्स) बरामद की गयी। जब्त की गई कार्टून में रखे करीब 6000 हजार पीस कोरेक्स बरामद की गई। जिसकी कीमत लगभग सात लाख रूपये बताई गई है। गिरफ्तार दोनो से नशीली दवा की कागजात मांगी गई है। लेकिन पुलिस के समक्ष दोनो दवा दुकानदारों ने कोई कागजात प्रस्तुस नही किया। मामले को लेकर प्रक्षिक्षु डीएसपी ने इसकी सूचना जिले के मेडिकल विभाग को दी। 

सूचना पर ड्रग इंस्पेक्टर ने थाना पहुंचकर नशीली दवाओं की जांच की। जब्त किए गए  विभिन्न कम्पनी के लगभग 6 हजार विनटीभेक्स, एक्सीपलोन, टफरेक्स नामक 100 एमएल की नशीली दवा के बारे में गिरफ्तार दवा संचालक से पूछ ताछ कर कागजत की मांग की गयी। लेकिन संचालक द्वारा कोई कागजात नही दिखाया गया। इंस्पेक्टर ने भी माना कि जब्त की गई नशीली  दवा पूर्ण रुप से अवैध है। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए एसआई ललन सिंह के बयान पर गिरफ्तार दोनो के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करते हुए न्यायिक हिरासत में भेज दिया। 

मालूम हो कि क्षेत्र में लगतार हो दोपहिया वाहन की चोरी, शराब एव नशीली दवा की हो रही बिक्री पर अंकुश लगाने को 5 दिन पूर्व स्थानीय थाना परिसर में सोनबरसा व्यवसायिक संघ की बैठक बुलाई गई थी। जिसमे व्यवसायिक द्वारा विभिन्न चौक एव बाजार पर पुलिस गश्ती की मांग की गई थी। साथ ही  बाजार से अतिक्रमण के अलावे सड़क पर किये गए अतिक्रमण को हटाने की मांग की गई थी। डीएसपी ने सभी व्यवसायियो को आश्वासन दिया कि आपके साथ पुलिस हर समय तत्पर है। उन्होंने दवा विक्रेता से नशीली दवा नही बेचने की सलाह दी थी।  साथ ही खुद से अतिक्रमण हटाने की चेतावनी दी। डीएसपी द्वारा दिये समय बीत जाने के बाद पुलिस एक्शन में आई और बढ़ी सफलता मिली। पुलिस की इस कार्रवाई से दवा बिक्रेता में हड़कम्प मची हुई है। हालांकि बताया जा रहा है की नशीली दवा के मामले में मात्र छोटी मछली ही गिरफ्त में आया है। अभी तो माफिया तो बाकी है।

सीतामढ़ी से आदित्यानंद आर्य की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News