सियासी गहमागहमी, राजद की सत्ता में आने की उम्मीद अभी बाकी, राजद ने खेला ये दांव

सियासी गहमागहमी, राजद की सत्ता में आने की उम्मीद अभी बाकी, राजद ने खेला ये दांव

पटना.... बिहार विधानसभा चुनाव मंे एनडीए को पूर्ण बहुमत मिला है। एनडीए को जहां 125 सीटें मिली हैं वहीं महागठबंधन को 110 सीटें प्राप्त हुई है। ऐसे में महागठबंधन 15 सीटों से एनडीए से पीछे रह गई। हालाकि इस बीच राजद ने सत्ता बनाने की उम्मीद नहीं छोड़ी है। राजद को अब भाजपा के अगले कदम का इंतजार है। राजद के नेतृत्व को अभी भी लग रहा है कि चुनाव में पिछड़ जाने के बाद भी अभी लड़ाई खत्म नहीं हुई है। दिवाली के बाद भले ही एनडीए में नई सरकार के गठन की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी, लेकिन एनडीए में भी नई जंग तभी देखने को मिलेगी।

इससे पहले कि एनडीए की सरकार बने, राजद ने नीतीश पर तीखे प्रहार शुरू कर दिए हैं। राजद के उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने तो यहां तक कह दिया है कि भाजपा नीतीश कुमार की लगातार उपेक्षा करती आ रही है और नीतीश कुमार ने भी सत्ता के लालच में अपने स्वाभिमान को ताक पर रख दिया है। हालाकि नीतीश कुमार स्वाभिमानी आदमी हैं, इसलिए वो ज्यादा दिन भाजपा को झेल नहीं पाएंगे। 

इस बीच आपको बता दें कि नीतीश कुमार के लिए सत्ता की चाबी प्राप्त करना भी आसान नहीं होगा। सहयोगी दलों की परेशानी अभी से ही बढ़ गई है। सियासत में संभावनाओं से इंकार नहीं किया जा सकता है। 

हालाकि चुनाव के नतीजे आने के बाद राजद खेमों में चुप्पी का माहौल छाया हुआ है। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव बुधवार को दिन भर अपने आवास परिसर में ही रहे। उनकी सभी सातो बहने पटना पहुंच चुकी है। राबड़ी देवी का पूरा आवास परिसर इन दिनों भरा हुआ है। दोनो भाई ने अपनी-अपनी सीटों पर आसान जीत दर्ज भी कर ली है। 


Find Us on Facebook

Trending News