पंचायत चुनाव में दिखा जेल में बंद छोटे सरकार अनंत सिंह का जलवा : बिना चुनाव लड़े ही बहू को बनवा दिया मुखिया

पंचायत चुनाव में दिखा जेल में बंद छोटे सरकार अनंत सिंह का जलवा : बिना चुनाव लड़े ही बहू को बनवा दिया मुखिया

MOKAMA : पिछले एक साल से बेउर जेल में बंद सूबे में छोटे सरकार के नाम चर्चित और मोकामा से बाहुबली विधायक अनंत सिंह (Bihar MLA Anant Singh) एक बार फिर चर्चा में है। ऐसा लग रहा था कि जेल में होने के कारण अपने इलाके में छोटे सरकार का प्रभाव कम हो गया है, लेकिन बात गलत साबित हुई है। कम से कम बिहार पंचायत चुनाव के छठे चरण के परिणाम यह बता रहे हैं कि अपने  इलाके में उनका जलवा अभी भी कायम है. लोकसभा, विधानसभा में अपना प्रभुत्व जमाने के बाद अब पंचायत चुनाव में भी अनंत सिंह की चर्चा होने लगी है।

मामला अनंत सिंह के पैतृक इलाके बाढ़ अनुमंडल से जुड़ा है. जहां अनंत सिंह का गांव है नदांवा। यहां छठवें चरण में पंचायत चुनाव होना था। लेकिन यहां सभी  पदों पर बिना चुनाव के ही चयन कर लिया। इनमें सबसे ज्यादा चर्चा . बिहार केशरी के नाम से मशहूर विवेका पहलवान के भाई स्व.कमलेश पहलवान की पत्नी मंजू देवी दूसरी बार मुखिया पद संभालने में कामयाब रही हैं। बताया गया कि मंजू देवी और अनंत सिंह का रिश्ता बहू और ससुर का है। यह अनंत सिंह का प्रभाव था कि मंजू देवी के सामने किसी ने अपनी दावेदारी पेश करने की हिम्मत भी नहीं की। मुखिया मंजू देवी ने हर घर तक विकास पहुंचाने की बात कही है।

अबीर गुलाल लगाकर दी बधाई

नदांवा में मुखिया पद के साथ सरपंच के पद पर बिजली देवी, पंचायत समिति सदस्य के पद पर श्याम नन्द महतो सहित 13 वार्ड सदस्य और पंच भी निर्विरोध विजयी हुए हैं.मुखिया मंजू देवी के आवास पर सभी पंचायत के निर्विरोध उम्मीदवारों ने एक दूसरे को  जीत की माला पहना कर अबीर-गुलाल लगाया


Find Us on Facebook

Trending News