आजम खान के खिलाफ महिला सांसदों ने खोला मोर्चा, एक सुर में कार्रवाई की मांग

आजम खान के खिलाफ महिला सांसदों ने खोला मोर्चा, एक सुर में कार्रवाई की मांग

समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान के द्वारा भाजपा सांसद रमा देवी को लेकर की गई टिप्पणी पर शुक्रवार को भी लोकसभा में जमकर बवाल हुआ। लोकसभा में कई महिला सांसदों ने आजम खान के बयान की निंदा की और लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला से एक्शन लेने की मांग क। शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, टीएमसी सांसद मिमी चक्रवर्ती, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण समेत कई महिला सांसदों ने आजम पर एक्शन की मांग की।

सदन में केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी ने कहा कि मेरे सात साल के संसदीय कार्यकाल में आज तक किसी पुरुष ने सदन में इस तरह की हिमाकत नहीं की। यह विषय महिला का नहीं है। इस सदन में और दूसरे सदन में भी कई पुरुषों ने अपने सामाजिक, राजनीतिक कार्यकाल में महिलाओं के संरक्षण के लिए आवाज उठाई है। यह महिला नहीं, पुरुषों का भी अपमान है।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह ऐसा सदन नहीं कि जहां पुरुष किसी महिला की आंखों में झांकने के लिए आते हैं। यह पूरा देश ने देखा है कि कैसे यह सदन शर्मसार हुआ। इस सदन में बातचीत विशेषाधिकार होती है, अगर महिला के साथ ऐसी बदतमीजी सदन के बाहर होती, तो वह पुलिस का संरक्षण मांगती। हम चुपचाप बैठकर मूकदर्शक नहीं बन सकते।

केंद्रीय मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि लगभग पूरे सदन ने बयान की निंदा की है। जो शब्द उन्होंने (आजम खान) ने कहे हम उन्हें दोहराना भी नहीं चाहेंगे। पूरे देश ने जो यहां हुआ, वह देखा। मैं हर उस सदस्य की आभारी हूं, जो इसके विरोध में खड़ा हुआ। यह सिर्फ महिला का अपमान नहीं बल्कि उस महिला का भी अपमान है, जो स्पीकर की भूमिका में है। 

महिलाओं से जुड़े एक मुद्दे का भी राजनीतिकरण करने की कोशिश की गई है, जबकि सभी इसके विरोध में खड़ा होना चाहिए था। इसका विरोध करने में असमंजस की स्थिति क्यों है? 

आजम खान के बयान के विषय में स्पीकर ने विभिन्न दलों के सांसदों की बात सुनने के बाद कहा कि सभी ने अपना पक्ष रखा है और इस विषय पर विभिन्न दलों के नेताओं से बातचीत के बाद मैं अपना फैसला करूंगा।

Find Us on Facebook

Trending News