गोवर्धना वन क्षेत्र में तस्करों ने वन रक्षकों पर किया जानलेवा हमला, बाल-बाल बचे वन रक्षक

गोवर्धना वन क्षेत्र में तस्करों ने वन रक्षकों पर किया जानलेवा हमला, बाल-बाल बचे वन रक्षक

बेतिया. बगहा में इन दिनों लकड़ी तस्करों की चहल कदमी तेज हो गई है. ताजा मामला गोवर्धना रेंज की है, जहां तस्करों पर कार्रवाई के लिए गयी वनकर्मियों की टीम पर तस्करों द्वारा हमला करने का मामला सामने आया है. इसमें कई वनकर्मी घायल हो गये हैं. वहीं तस्करों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गयी है.

जानकारी के अनुसार गोवर्धना रेंज में वन माफियाओं के द्वारा रात के अंधेरे में लगातार लकड़ी की कटाई की जा रही है. इस बीच लकड़ी की तस्करी की सूचना मिलने पर गोवर्धना रेंजर के सुजीत कुमार द्वारा एक टीम गठित कर वन में भेजा गया. वंनरक्षी राकेश यादव के नेतृत्व में जब टीम वहां पहुंची तो लकड़ी काटने की आवाज उन लोगों को सुनाई दी. इसके बाद वनकर्मी द्वारा वन माफियाओं को चारों तरफ से घेर लिया गया. उन्हें आत्मसमर्पण के लिए बोला गया, लेकिन वन माफियाओं की तादाद ज्यादा होने के कारण वन रक्षको पर हमला बोल दिया, जिसमें कई वन कर्मी जख्मी हुए और अपनी जान को बचाते हुए मौके से भाग निकले.

बताया जा रहा है कि इस दौरान वन माफियाओं के द्वारा वनरक्षी राकेश यादव को बंधक बना लिया गया और रेंजर के ऊपर दबाव दिया गया कि अगर रेंजर के द्वारा हम लोगों के ऊपर किसी प्रकार की प्राथमिकी दर्ज नहीं किया जाए और काटे गए लकड़ी को छोड़ दिया जाए. उसके बाद  वंनरक्षी को मुक्त कर देंगे. इस बीच रेंजर सुजीत कुमार के द्वारा वंनरक्षी को छुड़ाने के लिए कवायद शुरू की गई और वन माफियाओं के चंगुल से वंनरक्षी को मुक्त भी करा लिया गया. साथ ही लकड़ी को जप्त कर कार्यालय लाया गया. 

फिलहार रेंजर के द्वारा गोवर्धना थाना में वन माफियाओं के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराई गई है. रेंजर  का कहना है कि वन माफियाओं की पहचान कर ली गई है और पुलिस छानबीन में जुट गई है. जल्द ही उन्हे गिरफ्तार कर लिया जायेगा. फिलहाल मामले की जांच की जा रही है.


Find Us on Facebook

Trending News