...तो BJP का गुणगान कर मंत्री पद चाहते हैं चिराग? NDA की बैठक में इंट्री नहीं मिलने के बाद JDU पर हमलावर हुई LJP

...तो BJP का गुणगान कर मंत्री पद चाहते हैं चिराग? NDA की बैठक में इंट्री नहीं मिलने के बाद JDU पर हमलावर हुई LJP

PATNA: जेडीयू ने एनडीए की बैठक में चिराग की इंट्री पर रोक लगवा दी। इसके बाद लोजपा ने एक बार फिर से सीएम नीतीश के खिलाफ हमला शुरू कर दिया है। लोजपा की तरफ से ये हमला बीजेपी से नजदीकी बढ़ाने की कोशिश मानी जा रही है। रामविलास पासवान के निधन से खाली हुई मंत्री पद लोजपा फिर से लेना चाहती है इसलिए बीजेपी के गुणगान में जुटी है। लोजपा नेतृत्व बीजेपी के प्रति अपनी प्रतिबद्धता हर रोज जताने की कोशिश कर रही है. जानकारों की मानें तो चिराग पासवान केंद्रीय कैबिनेट में जगह चाहते हैं। लेकिन जेडीयू के रूख से लगता नहीं कि उनकी मंशा कामयाब होगी।

...तो बीजेपी का गुणागान कर मंत्री पद चाहते हैं चिराग

अब चिराग की तरफ से कहा गया है कि NDA से अगर लोजपा बाहर हो जाती तो चुनाव में भाजपा की जीत वाली सीटों में कमी आती जो हम नहीं चाहते थे। इसका मतलब साफ है कि लोजपा अपने आप को भाजपा की सबसे बड़ा हितैषी साबित करने में जुटी है। अब लोजपा की तरफ से जदयू के वरिष्ठ नेता केसी त्यागी को पत्र लिखा गया है। पूर्व विधायक राजू तिवारी ने पत्र लिखकर जेडीयू को जवाब दिया है। लोजपा नेता ने कहा है कि नीतीश कुमार के अधिक सीटों पर लड़ने की जिद के कारण बिहार में एनडीए का बुरा प्रदर्शन रहा। लोजपा संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष राजू तिवारी ने कहा कि नीतीश कुमार बड़ा भाई बन कर राज करना चाहते थे. आगे लोजपा नेता ने लिखा है कि सीएम नीतीश के लालच और अहंकार के कारण माँझी और सहनी को भी नुकसान हुआ है। 

जेडीयू के विरोध के बाद चिराग की मंशा पर फिरा पानी 

बता दें, जेडीयू किसी कीमत पर लोजपा को एनडीए में इंट्री होने देना नहीं चाहती है। दिल्ली में एनडीए की बैठक में लोजपा को आमंत्रित किये जाने के बाद जेडीयू आक्रामक हो गई और विरोध के बाद भाजपा को पीछे हटना पड़ा था। यानी जेडीयू के विरोध के बाद चिराग की मंशा पर पानी फिर गया। मीटिंग में शामिल होने पर ऐन वक्त में पाबंदी लग गई। इसके बाद चिराग की तरफ से बताया गया कि वे बीमार हैं लिहाजा मीटिंग में शामिल नहीं हो रहे। जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह ने साफ कर दिया है कि लोजपा कहां है उसके नेता ही बता सकते हैं लेकिन वो एनडीए की मीटिंग में नहीं थे। जेडीयू के भारी विरोध के बाद अब कोई विकल्प नहीं बचता देख लोजपा नेताओं ने भी अपनी चुप्पी तोड़ी है और सीएम नीतीश पर हमला बोलना शुरू कर दिया है।

चिराग पासवान को पीएम मोदी का नकली हनुमान बता चुके हैं बीजेपी नेता 

बिहार विधान सभा चुनाव 2020 में चिराग ने अकेले चुनाव लड़ा। चिराग पासवान पूरे चुनाव प्रचार के दरम्यान बीजेपी के सीएम कैंडिडेट नीतीश कुमार को जेल भेजने की बात कहते रहे। लोजपा ने जेडीयू की सभी सीटों पर उम्मीदवार उतार दिया। इतना ही नहीं बीजेपी की 6 सीटों पर भी चिराग ने अपने उम्मीदवार दे दिये। चिराग एक तरफ अफने आप को पीएम मोदी का हनुमान बता रहे थे दूसरी तरफ तेजस्वी यादव की सीट पर भी बीजेपी से अलग अपना उम्मीदवार दे दिया था। भाजपा के कई बड़े नेताओं ने चुनाव के दौरान कहा था कि चिराग नकली हनुमान हैं और प्लास्टिक का गदा लेकर हनुमान बनने का दिखावा कर रहे। अगर वे वाकई में पीएम मोदी के हनुमान होते तो राघोपुर में बीजेपी कैंडिडेट होने के बाद भी अपना उम्मीदवार नहीं देते। 


Find Us on Facebook

Trending News