सोनिया की मीटिंग में महागठबंधन के नेता होंगे शामिल, बीजेपी बोली-कांग्रेस अपनी राजनीति चमकाने के लिए कर रही इनका इस्तेमाल

सोनिया की मीटिंग में महागठबंधन के नेता होंगे शामिल, बीजेपी बोली-कांग्रेस अपनी राजनीति चमकाने के लिए कर रही इनका इस्तेमाल

Patna : कोरोना संकट के दौर में महामारी के चलते उपजे हालात पर चर्चा करने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने मीटिंग बुलाई है। यह मीटिंग कल शुक्रवार 22 मई को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होगी। सोनिया गांधी ने इस मीटिंग में शामिल होने के लिए महागठबंधन में शामिल राजद, हम, रालोसपा को भी न्योता दिया है।  

इधऱ सोनिया की इस बैठक में महागठबंधन के नेताओं के शामिल होने को लेकर बिहार बीजेपी की ओर से चुटकी ली गई है।

बिहार भाजपा प्रवक्ता डॉo निखिल आनंद ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग को लेकर महागठबंधन नेताओं के उत्साह को हास्यास्पद बताया है। 

निखिल आनंद ने कहा कि महागठबंधन दलों की स्थिति पर बेगानी शादी में अब्दुल्ला दीवाना वाली कहावत चरितार्थ होती है।भाई तेजस्वी यादव, जीतनराम मांझी एवं उपेन्द्र कुशवाहा नाहक ही खुश हो रहे हैं। हकीकत तो यही है कि राजद, हम, रालोसपा जैसी पार्टियों का इस्तेमाल कांग्रेस अपनी राजनीति चमकाने के लिए सब्जी में मिर्च-फोरन की तरह करने वाली है।

डॉo निखिल आनंद ने कहा कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई में केन्द्रसरकार और बिहार सरकार सतत प्रयत्नशील है। लेकिन कांग्रेस और उसके सहयोगी सरकार को सहयोग तो दूर की बात जनसहयोग से भी कतरा रहे हैं। 

उन्होंने कहा कि हाल के दिनों में कांग्रेस के भैया राहुल गांधी और दीदी प्रियंका गांधी ने जो प्रोपोगंडा करने के साथ देश की राजनीति में बहुत सारा कचरा और रायता फैलाने का काम किया है। अब राहुल-प्रियंका के फैलाये राजनीतिक कचरे और रायते को समेटने के लिए ही कांग्रेस की माताजी सोनिया गाँधी वीडियो कॉंफ्रेंसिंग करने जा रही हैं ताकि आई-वॉश के साथ क्राईसिस मैनेजमेंट किया जा सके। 

निखिल आनंद ने कहा है कि इस वीडियो कॉंफ्रेंसिंग के माध्यम से सोनिया यह झूठा संदेश प्रचारित करने की कोशिश करेंगी कि महागठबंधन का वजूद अब भी बरकरार है।

Find Us on Facebook

Trending News