स्पीकर के इस्तीफे विवाद के साथ कल से बिहार विधानसभा का विशेष सत्र, CM-डिप्टी CM ने रणनीति बनाने के लिए की मुलाकात

स्पीकर के इस्तीफे विवाद के साथ कल से बिहार विधानसभा का विशेष सत्र, CM-डिप्टी CM ने रणनीति बनाने के लिए की मुलाकात

पटना. बिहार में कल से विधानसभा का विशेष सत्र शुरू हो रहा है। इसमें नीतीश के नेतृत्व में माहगठबंधन की सरकार फ्लोर टेस्ट करेगी। सत्र शुरू होने से एक दिन पहले ही राबड़ी आवास पर राजद विधानमंडल की बैठक हुई। इस बैठक के बाद डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव मुख्यमंत्री नीतीश से मुलाकात की। बताया जा रहा है कि कल से शुरू हो रहे विधानसभा के विशेष सत्र को लेकर सीएम नीतीश और डिप्टी सीएम में बातचीत हुई। साथ ही स्पीकर के इस्तीफे विवाद पर भी रणनीति बनाई गई है।

बिहार में विधानसभा अध्यक्ष के इस्तीफे को लेकर विवाद चल रहा है। विधानसभा अध्यक्ष विजय सिन्हा और उपाध्यक्ष महेश्वर हजारी इस्तीफे के पक्ष और विपक्ष में अपने-अपने दलील दे रहे हैं। इन सभी के बीच कल बुधवार को विधानसभा का विशेष सत्र शुरू होगा। इसके लिए विधान सभा सचिवालय ने विशेष सत्र की कार्यवाही की अधीसूचना जारी कर दी है।

बिहार में अब महागठबंधन की सरकार है, लेकिन विजय कुमार सिन्हा विधानसभा के अध्यक्ष पद छोड़ने को तैयार नहीं है। उन्होंने कॉन्फ्रेंस के दौरान साफ कर दिया कि वे विधानसभा के अध्यक्ष पद से इस्तीफा नहीं देंगे। उन्होंने अविश्वास प्रस्ताव को खारिज करते हुए इसे नियम विरुद्ध बताया और इस्तीफा देने से इनकार कर दिया है।

वहीं विधानसभा के अध्यक्ष पद से विजय सिन्हा का इस्तीफा नहीं देने पर विधानसभा के उपाध्यक्ष महेश्वर हजारी ने पलटवार किया है। उन्होंने कहा है कि ये जोर जबरदस्ती है। विधानसभा का अध्यक्ष वही होते हैं, जिनके पास बहुमत होता है। इनके पास बहुमत हैं ही नहीं और पद के लिए अड़ हुए हैं। ये लोकतंत्र के लिए सही नहीं है।

विशेष सत्र की कार्यप्रणाली

1. अध्यक्ष द्वारा प्रारम्भिक सम्बोधन।

2. बिहार विधान सभा के समितियों के प्रतिवेदनों का सभा के समक्ष रखा जाना।

3. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार प्रस्ताव करेंगे कि "यह सभा वर्त्तमान राज्य मंत्रिपरिषद में विश्वास व्यक्त करती है।"

4. विधानसभा अध्यक्ष को हटाये जाने संबंधी संकल्प के प्रस्ताव को विचारार्थ रखा जाना।


Find Us on Facebook

Trending News