वरिष्ठ पत्रकार राजीव मिश्र शुरु करेंगे राजनीतिक पारी, वीआईपी पार्टी में होंगे शामिल

वरिष्ठ पत्रकार राजीव मिश्र शुरु करेंगे राजनीतिक पारी, वीआईपी पार्टी में होंगे शामिल

PATNA: देश के प्रख्यात पत्रकार राजीव मिश्र राजनीतिक पारी की शुरुआत करने जा रहे हैं। वे 1 अक्टूबर को विकासशील इंसान पार्टी में शामिल होने वाले हैं। राजीव मिश्र पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वर्गीय ललित नारायण मिश्र और पूर्व मुख्‍यमंत्री स्वर्गीय डाक्टर जगन्नाथ मिश्र के परिवार से आते हैं, जो अब राजनीति में सन ऑफ मल्‍लाह मुकेश सहनी की विकासशील इंसान पार्टी में शामिल होकर राजनीति में अपना कदम रख रहे हैं। उनके पिता स्वर्गीय मृत्युंजय नारायण मिश्र भी सीधे तौर पर राजनीति से जुड़े हुए थे। अब वे भी बिहार खासकर मिथिला की सक्रिय राजनीति में उतरने को तैयार हैं।

राजीव मिश्र, एक प्रखर पत्रकार हैं, जो अब राजनीति में अपने जीवन की एक नई पारी की शुरुआत कर रहे हैं। फिलहाल वे देश के नामी शिक्षण संस्थान एमिटी परिवार द्वारा संचालित एमिटी टीवी के सर्वेसर्वा हैं। उनका जन्म बिहार की एक प्रतिष्ठित राजनीतिक मिश्र परिवार में हुआ है। बलुआ बाजार, सुपौल के वे मूल निवासी हैं। इनका बचपन एक राजनीतिक और सामाजिक सरोकार रखने वाले परिवार में बीता। प्रारम्भिक शिक्षा इनकी सहरसा और पटना में हुई जबकि पत्रकारिता और व्यवसायिक शिक्षा छात्रवृति हासिल कर विदेश में पूरी की। इन्होंने पत्रकारिता की शुरुआत हिन्दुस्तान से की और आगे चलकर देश के नामचीन मीडिया हाउस, स्टार, जी, इन्डिया न्यूज, न्यूज 24 और न्यूज 18 के लिए काम किया।

बता दें कि राजीव मिश्र करीब 3 वर्षों तक लोकसभा टीवी के लिए बतौर सीइओ और सीएसआर प्रमुख के तौर पर बहुराष्ट्रीय कम्पनी सैमसंग के लिए भी सेवा दी है। इसके अतिरिक्त पिछले कई वर्षों से वे भारत सरकार द्वारा गठित कई मंत्रालयों की कमेटियों के मेम्बर हैं। व्यक्तित्व में इतनी विविधता और पेशागत व्यस्तता के बावजूद राजीव ने अपने आप को अपनी मिट्टी से जोड़े रखा है। गांव और प्रदेश के लोगों और इनके नेतृत्व से इनका लगाव जगजाहिर है। सामाजिक सरोकार को जीने की कला इनको अपने परिवार से मिली है। शायद यही कारण है कि आज की तारीख में इन्होंने सक्रिय राजनीति में शामिल होने का निर्णय लिया है।

राजनीति की इस नई पारी के लिए उन्‍होंने मुकेश सहनी की VIP (विकासशील इंसाफ पार्टी) में शामिल होने का निर्णय लिया है। राजीव मिश्र के VIP में शामिल होने के बाद पार्टी को राष्ट्रीय स्तर पर एक नई पहचान मिलेगी तो दूसरी तरफ बिहार और खासकर मिथिलांचल में राजनीति के जातीय समीकरण बदल जाएंगे। 

Find Us on Facebook

Trending News