सृजन घोटाला : बैंक के इस बड़े अधिकारी को सीबीआई ने किया गिरफ्तार, कई दिन से हो रही थी पूछताछ

सृजन घोटाला : बैंक के इस बड़े अधिकारी को सीबीआई ने किया गिरफ्तार, कई दिन से हो रही थी पूछताछ

BHAGALPUR : भागलपुर के सबसे बड़े सृजन घोटाले में कई लोगों को सजा दी जा चुकी है, कई लोगों को सजा के बिंदुओं पर रखा गया है उसी बाबत आज भागलपुर के सृजन घोटाला मामले में सीबीआई की दबिश फिर से चालू हो गई है। कॉपरेटिव बैंक के अधिकारी अशोक कुमार अशोक को सीबीआई ने गिरफ्तार कर लिया है। उन्हें आज सदर अस्पताल में मेडिकल के लिए लाया गया था ।कोर्ट के आदेश पर सीबीआई 8 दिनों से छानबीन कर रही थी।

 बताते चलें कि 900 करोड़ रुपए का सृजन घोटाला 2017 में उजागर हुआ था तब से लेकर आज तक कई लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है साथ ही कई लोगों के अवैध संपत्ति को सरकार ने जप्त भी किया। इसी बाबत आज बांका के कॉपरेटिव बैंक के अधिकारी अशोक कुमार अशोक को भी सीबीआई ने गिरफ्तार कर लिया है और  मेडिकल जांच के लिए सदर अस्पताल लाया गया था।

27 के खिलाफ चार्जशीट

 जांच एजेंसी सृजन घोटाला मामले में पहले ही 27 आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल कर चुकी है. करोड़ों रुपये का यह घोटाला अवैध तरीके से फंड की निकासी से जुड़ा है. इस मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ED) भी अपने स्‍तर पर जांच कर रहा है. मनी लॉन्ड्रिंग रोथाम कानून के तहत ईडी ने कार्रवाई की है. प्रवर्तन निदेशालय ने कुछ अचल संपत्तियों को जब्‍त भी किया है.

CBI की विशेष अदालत ने जिन 9 आरोपियों के खिलाफ जमानती वारंट जारी किया है उनमें भागलपुर के तत्‍कालीन कलेक्‍टर केपी रमैया, बैंक अधिकारी बिहारी पांडे, एसडीएम विजय कुमार, सनत कुमार, आनंद चंद्र, शंकर प्रसाद दास, रजनी प्रिया एवं उनके पति अमित कुमार और एक अन्‍य के नाम शामिल हैं. बता दें कि रजनी प्रिया सृजन महिला विकास समिति की सचिव हैं

Find Us on Facebook

Trending News