एसएसपी, 3 सिटी एसपी, 9 थानेदार, एसटीएफ, रंगदारी सेल और सीआईडी, फिर भी अभी तक खाली हाथ,क्यों? @ सोना लूट

एसएसपी, 3 सिटी एसपी, 9 थानेदार, एसटीएफ, रंगदारी सेल और सीआईडी, फिर भी अभी तक खाली हाथ,क्यों? @ सोना लूट

PATNA : राजधानी के अति व्यस्ततम इलाके आशियाना दीघा रोड पर स्थित पंचवटी रत्नालय में दिनदहाड़े हुई सबसे बड़ी सोने के लूट के 48 घंटे होने जा रहे हैं उसके बावजूद अभी तक पुलिस खाली हाथ है।

बताया गया है कि डकैतों को पकड़ने के लिए एसएसपी सिटी एसपी 9 थानेदार एसटीएफ रंगदारी सेल साथ में पूरा पुलिस महकमा तकनीकी महारथी सब के सब लगे हुए हैं। बेउर जेल से लेकर बाहर के जिलों तक पूछताछ की जा रही है, लेकिन पटना पुलिस इस बड़ी लूट में अभी तक खाली हाथ है।

सीएम नीतीश कुमार बिहार में कानून का राज स्थापित करने के लिए लगातार बैठक कर रहे है। उन्होंने पुलिस महकमें को सख्त हिदायत दिया है कि हमें हर हाल में रिजल्ट चाहिये। लेकिन सीएम के सख्त निर्देश के बाद भी अन्य जिलों की बात तो छोड़ दीजिए राजधानी भी सुरक्षित नहीं रह गई है। 

21 जून गुरुवार को जिस तरह से राजधानी में दिनदहाड़े ज्वेलरी दुकान में लूट की घटना को अंजाम दिया गया उससे पुलिस के कार्यशैली पर बड़ा सवाल खड़ा हुआ है। 

अपराधियों ने पटना पुलिस करारा तमाचा जड़ते हुए दिन दहाड़े अति व्यस्त आशियाना दीघा रोड पर स्थित ज्वेलरी की दूकान पंचवटी रत्नालय को दोपहर के बारह बजे दिन में लूट कर चलते बने।

अपराधियों के हौसले इतने बुलंद है कि घटना को जिस जगह पर अंजाम दिया वहां से राजीव नगर थाने की दूरी महज 600 मीटर है। 

पटना के पंचवटी रत्नालय में दस की संख्या में आये अपराधियों ने सबसे पहले दूकान में रखे करोड़ो के गहने लूट लिए फिर अपने साथ सीसीटीवी कैमरे का डीवीआर अपने साथ ले गए जिसमे पूरी वारदात कैमरे में कैद हुई थी।

पंचवटी रत्नालय लूट मामला पटना में अबतक की सबसे बड़ी लूट बताया गया है।  

इस पूरे घटनाक्रम में सबसे बड़ी बात यह रही कि अपराधियों ने मुजफ्फरपुर के मुथुड फाइनांस में हुई लूट की तरह   अंजाम दिया। 

दोनों ही घटनाओँ में अपराधी खुले चेहरे लिए और महज 15-20 मिनट में लूट की बड़ी वारदात को अंजाम देकर फरार हो गए।  

कुंदन की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News