रेप और छेड़छाड़ से जुड़े 30 मामलों को दबा गये थाने, एसएसपी ने थानेदारों को जारी किया नोटिस

रेप और छेड़छाड़ से जुड़े 30 मामलों को दबा गये थाने, एसएसपी ने थानेदारों को जारी किया नोटिस

BHAGALPUR : जिले में नाबालिगसे दुष्कर्म एवं छेड़छाड़ के 30 मामले को थानों में दबाकर रखा गया है। इस मामले में न तो आरोपी पकड़े गए हैं और न ही आगे की जांच की गई है। थानों द्वारा कोर्ट में एफआईआर भेजकर चुपचाप बैठ गया है। 

थानों के इस लापरवाही को जिले के एसएसपी आशीष भारती ने पकड़ा है। दरअसल एसएसपी आशीष भारती जिले के सभी थानों के अंदर दर्ज मामलों में क्या कार्रवाई हुई इसी समीक्षा कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने पाया कि जिले के अलग-अलग थानों में नाबालिग के साथ रेप और छेड़छाड़ के तकरीबन 30 ऐसे मामले को पाया जिसपर थानों द्वारा सिर्फ कोर्ट में एफआईआर भेजकर इतिश्री कर ली गई थी। 

एसएसपी ने समीक्षा के दौरान जांचकर्ता की लापरवाही पर नाराजगी जताते हुए हुए थानेदारों को नोटिस भेजकर 30 दिन के अंदर केस का निष्पादन कराने का निर्देश दिया है। 

आशीष भारती ने केस की जांच में लापरवाही पर नाथनगर, हबीबपुर, तातारपुर, इशाकचक, मधुसूदनपुर, कजरैली, सबौर, महिला थाना, पीरपैंती, ललमटिया, जीरो माइल, गोराडीह, बरारी, एकचारी, ईशीपुर बाराहाट, विश्वविद्यालय, सन्हौला और एससीएसटी थाने के इंस्पेक्टर एवं थानेदारों को नोटिस भेजा है। सभी को निर्धारित समय में जांच पूरी करने का निर्देश दिया है। 

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने नाबालिग से दुष्कर्म व छेड़छाड़ यानी पास्को एक्ट के मामले का 60 दिनों के अंदर निष्पादन कराने का आदेश दिया है, लेकिन थानेदार द्वारा ऐसे गंभीर मामले में भी लापरवाही एवं शिथिलता बरती जा रही है।

Find Us on Facebook

Trending News