CM के गृह जिले में उद्घाटन का बाट हो रहा है राजकीय औषधालय, खिड़की और दरवाजे भी चोर ले उड़े, लाखों की दवा भी होने लगी एक्सपायर

CM के गृह जिले में उद्घाटन का बाट हो रहा है राजकीय औषधालय, खिड़की और दरवाजे भी चोर ले उड़े, लाखों की दवा भी होने लगी एक्सपायर

देख तेरे अस्पताल की हालत क्या हो गयी सरकार, बनने के बाद भी उद्घाटन का बाट हो रहा है राजकीय औषधालय, भेजी गई लाखों की दवा भी हो गई एक्सपायर...

NALANDA : लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराने के उद्देश्य से नालंदा जिले के सिलाव प्रखंड स्थित हैदरगंज कराह गांव में 84 लाख की लागत से 6 बेड का निर्मित राजकीय औषधालय आज 10 साल बाद भी उद्घाटन का बाट जोह रहा है । ये ही नहीं इलाज के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा भेजी गई लाखों रुपए मूल्य की दवा भी एक्सपायर के कगार पर पहुंच गया है। मगर अब तक किसी ने इसकी सुध नहीं ली है। औषधालय की यह स्थिति तब है जब राज्य के मुख्यमंत्री इसी जिले से आते हैं।

 मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा वर्ष 2011 में इसका निर्माण कराया गया था। लापरवाही के कारण धीरे-धीरे इसका भवन जीर्ण शीर्ण होने लगा है। ये ही नहीं देखरेख के अभाव में इसमें लगे खिड़की और दरवाजे भी चोर ले उड़े हैं। हालांकि 23 सितम्बर 2020 को स्थानीय वार्ड पार्षद और ग्रामीणों के प्रयास से बिना उद्घाटन ही इसे चालू किया गया और चिकित्सा कर्मियों की तैनाती की गई। पर्याप्त मात्रा में दबाई भी उपलब्ध कराया गया। 

मगर 19 फरवरी 2021 से चिकित्सक यहाँ आना बंद कर दिए जिसके कारण इस अस्पताल में फिर से ताला लटक गया । जिसके कारण यहाँ रखे लाखों रुपये की दबाई अब एक्सपायर होने लगी है जिसपर स्वास्थ्य विभाग का कोई ध्यान नहीं है। अब यहां स्थिति ऐसी है  जिसे देखने के बाद यह कहना भी मुश्किल होगा कि यह अस्पताल है। यहां के सभी कमरे खाली हैं, अस्पताल से जुड़ा कोई इक्यूप्मेंट तो छोड़िए, यहां एक बेड तक नहीं है।

Find Us on Facebook

Trending News