बाढ़ पीड़ितों का मजाक उड़ा रही राज्य सरकार, जानिए किस नेता ने लगाया आरोप

बाढ़ पीड़ितों का मजाक उड़ा रही राज्य सरकार, जानिए किस नेता ने लगाया आरोप

SAHIBGANJ : लगातार हो रही बारिश से बाढ़ का असर सिर्फ बिहार में ही नहीं देखा जा रहा है. इसका असर झारखण्ड के कई जिलों में भी देखने को मिल रहा है. साहिबगंज के कई इलाके इन दिनों बाढ़ की चपेट में हैं. इसके मद्देनजर राज्य सरकार की ओर से बाढ़ पीड़ितों को राहत सामग्री उपलब्ध कराई जा रही है. राहत सामग्री के नाम पर सरकार की ओर से पीड़ितों को 5 किलो चावल और 1 किलो दाल के साथ  चूड़ा, मोमबत्ती और माचिस दिया जा रहा है. 

इसे भी पढ़े : पटना में हेलीकॉप्टर से गिराई जा रही है राहत सामग्री, लोगों ने सड़ा होने का लगाया आरोप

इस मामले को लेकर युवा कांग्रेस के जिलाध्यक्ष इकलाख नदीम ने कहा की 30 साल के अंतराल पर अब तक आये आपदा में कभी भी बाढ़ पीड़ितों को 5 किलो चावल देकर फुसलाया नहीं गया. कभी गेहूं, आटा, बहुत सारी सामग्री और हरी सब्जियों के लिए कुछ पैसे दिए जाते थे. लेकिन यह सरकार सिर्फ बड़ी-बड़ी दावे करती है. गरीबों को बरगला कर, बहला फुसला कर ठग लिया जाता है. उन्होंने कहा कि किसी भी जनप्रतिनिधि की ओर से इसका विरोध नहीं किया जाता है. 

इसे भी पढ़े : उफनती बागमती नदी का पुराने धार में हो रहा है बहाव, डीएम ने लिया स्थिति का जायजा

उन्होंने कहा की बाढ़ में डूबने के बाद इन सामानों से साहिबगंज के जनता की भूख और प्यास नहीं मिट सकती है. बताते चलें की न केवल गंगा के दियारा क्षेत्र बाढ़ से हलकान है बल्कि भारी बारिश से शहर के निचले इलाकों में भी बाढ़ की विभीषिका देखने को मिल रही है. 

साहिबगंज से रवि मिश्रा की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News