स्वास्थ्य विभाग में टैब खरीद में भारी घोटाला, 6 हजार के टैबलेट के लिए खर्च की गई 19 हजार की राशि! सरकार ने दिए जांच के आदेश

स्वास्थ्य विभाग में टैब खरीद में भारी घोटाला, 6 हजार के टैबलेट के लिए खर्च की गई 19 हजार की राशि! सरकार ने दिए जांच के आदेश

PATNA:  बिहार के स्वास्थ्य विभाग में टैब खरीद में भारी फर्जीवाड़ा सामने आया है। 6 हजार के टैब को 19 हजार में खरीदे जाने की बात सामने आई है। इस खुलासे के बाद विभाग में हड़कंप मच गया है। राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक ने जांच के आदेश दे दिए हैं। ईडी ने अपर निदेशक की अध्यक्षता मे 2 सदस्यीय कमिटी गठित कर जांच रिपोर्ट 15 दिनों के अंदर सौंपने का आदेश दिया है।

मामला मोतिहारी के जिला स्वास्थ्य समिति से जुड़ा है। बताया जा रहा है हैल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर कार्यरत एएनएम को सरकार के द्वारा टैब दिया जा रहा है। मोतिहारी के जिला स्वास्थ्य समिति ने टैब की खरीदारी में भारी गड़बड़ी की है। 

खरीदारी किए गए टैबलेट को बाजार मूल्य से तीन गुणा से ज्यादा कीमत का भुगतान दिखाया गया है। जिस फॉम से टैब की खरीदारी की गई है उसके बारे में बताया जा रहा है कि उसका कोई वजूद नहीं है। जानकारी के अनुसार जिला स्वास्थ्य समिति ने सिटी केयर कंपनी को 117 हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर के एएनएम के लिए टैब खरीद का जिम्मा दिया था। सिटी केयर ने आई बैल स्लाइड स्टार ग्रे मॉडल का टैबलेट उपलब्ध कराया है।

जिसका बाजार मूल्य 6239 रुपये बताया जा रहा है। इंस्टोलेशन में गड़बड़ी सामने आने के बाद घोटाला का खुलासा हुआ है। जब टैबलेट के इंस्टोलेशन के समय स्वास्थ्य विभाग का एप टैबलेट में काम नहीं कर रहा था तब जाकर घोटाला का खुलासा हुआ। इसकी जानकारी सामने आने के बाद राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार ने जांच बैठा दी है। अब मोतिहारी के जिला स्वास्थ्य समिति के कर्मियों के हाथ पांव फूलने लगे हैं।

Find Us on Facebook

Trending News