एसटीईटी अभ्यर्थियों का इन्तजार खत्म, शिक्षा विभाग ने जारी किया परीक्षाफल, इस लिंक पर करें क्लिक

एसटीईटी अभ्यर्थियों का इन्तजार खत्म, शिक्षा विभाग ने जारी किया परीक्षाफल, इस लिंक पर करें क्लिक

PATNA : लंबे समय से रिजल्ट का इंतजार कर रहे एसटीईटी अभ्यर्थियों का इन्तजार आज खत्म हो गया. शिक्षा विभाग की ओर से 37 हजार शिक्षकों की नियुक्ति संबंधी परिणाम जारी कर दिया गया. इस मौके पर बिहार सरकार के शिक्षा मंत्री विजय चौधरी, बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष आनंद किशोर और शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार मौजूद थे. बताया गया की 15 विषयों में 12 विषयों का रिजल्ट जारी किया गया है. 

STET रिजल्ट देखने के लिए यहाँ पर क्लिक करे : 

https://t.co/J0wEasBOne 

www.bsebstet2019.in 

http://biharboardonline.bihar.gov.in 

इस मौके पर शिक्षा मंत्री ने कहा की कोरोना काल में 1 लाख 78 हजार छात्रों का इम्तिहान लिया गया जो काफी चुनौती पूर्ण था. उन्होंने कहा की शिक्षा विभाग में रोजगार मुहैया करने की पहली कड़ी की शुरुआत हो चुकी है. कुल 37 हजार में 24 हजार 599 परीक्षार्थियों का रिजल्ट जारी हुआ है. जो भी सफल हुए हैं वे माध्यमिक और उच्च विद्यालयों में नियुक्त होने की पात्रता रख रहे हैं. अब वे सातवें चरण की नियुक्ति में हकदार है. उन्होंने कहा की छठे चरण की नियुक्ति अभी नहीं कर पा रहे हैं. हमने विधानसभा में भी जानकारी दी है. उन्होंने कहा की छठें चरण का मामला न्यायालय में है. जो अभ्यर्थी हैं उन्हें हमने बता दिया है. लेकिन सरकार की मुस्तैदी का आलम है कि हमने कोर्ट से कहा है की जो डायरेक्शन है उन सभी बिंदुओं पर सरकार तैयार है. कोर्ट के अनुसार ही हमलोग प्रक्रिया कर रहे हैं. हमलोग कोर्ट की इजाजत का इंतजार कर रहे हैं. न्यायालय ने 5 अप्रैल को इस बिंदु पर विचार करने का भरोसा दिया है. छठे चरण यानि प्रायमरी शिक्षक बहाली प्रक्रिया पर 5 अप्रैल को फैसला होगा. एसटीईटी को लेकर भी शिक्षा विभाग ने न्यायालय को अवगत कराया है. सारी स्थिति से अवगत करते हुए अनुरोध किया. न्यायालय ने रिजल्ट जारी करने का आदेश सुनाया. कोर्ट से इजाजत मिलते ही 94 हजार शिक्षक पदों पर बहाली प्रक्रिया शुरू होगी...

बता दें कि सात साल बाद एसटीईटी हुआ थाऔर इसमें उम्र सीमा की छूट भी दी गयी थी. माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा 2019 का नोटिफिकेशन सितंबर 2019 में जारी हुआ था और ऑफलाइन परीक्षा 28 जनवरी 2020 को हुई थी. परीक्षा में चार केंद्रों पर आउट ऑफ सिलेबस प्रश्न पूछे जाने पर हंगामा हुआ था. इन असंतुष्ट छात्रों ने ही हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी.

बता दें कि बिहार के माध्यमिक और उच्च माध्यमिक विद्यालयों में फिलहाल 37 हजार 335 शिक्षकों के पद खाली पड़े हैं.  इसमें 25 हजार 270 पद माध्यमिक और 12 हजार 65 पद उच्चतर माध्यमिक शिक्षकों के लिए है. बता दें कि सात साल बाद एसटीईटी हुआ थाऔर इसमें उम्र सीमा की छूट भी दी गयी थी.हालाँकि आज जब रिजल्ट जारी किया जा रहा था. उसी समय एसटीईटी अभ्यर्थी भी मौके पर पहुँच गए और जमकर हंगामा किया. 



पटना से वंदना शर्मा की रिपोर्ट 


Find Us on Facebook

Trending News