सरकार अपनी तो उड़नखटोला कौन चीज है ? पुण्यतिथि में शामिल होने सरकारी हेलिकॉप्टर से गए मंत्री तेजप्रताप, BJP का CM पर अटैक

सरकार अपनी तो उड़नखटोला कौन चीज है ? पुण्यतिथि में शामिल होने सरकारी हेलिकॉप्टर से गए मंत्री तेजप्रताप, BJP का CM पर अटैक

PATNA: लालू प्रसाद के बड़े बेटे व बिहार के वन एवं पर्यावरण मंत्री तेजप्रताप यादव स्वास्थ्य शिविर का उद्घाटन व पुण्य तिथि में शामिल होने सरकारी हेलकॉप्टर से जा रहे। जब सरकार अपनी हो तो हेलिकॉप्टर किस खेत की मूली है ?  लिहाजा वन एवं पर्यावरण मंत्री ने सरकारी खर्चे वाली हेलिकॉप्टर को अपने निजी कार्यक्रम के लिए उपयोग किया. दिखाने के लिए बीच में पार्क का निरीक्षण कार्यक्रम जोड़ दिया ताकि सवालों से बचा जा सके। बिहार बीजेपी ने निजी स्वार्थ के लिए सरकारी हेलिकॉप्टर के उपयोग का गंभीर आरोप लगाया है।

निजी कार्यक्रम में सरकारी हेलिकॉप्टर 

तेजस्वी यादव के बड़े भाई तेजप्रताप यादव आज रोहतास के दौरे पर थे. वे पटना से सरकारी हेलिकॉप्टर से रोहतास गए। तेजप्रताप यादव का जो टूर प्रोग्राम जारी हुआ उसमें कहा गया कि वे सरकारी हेलीकॉप्टर से रोहतास के अख्तियारपुर के रामधारी सिंह स्मृति परिसर में 10:50 पर पहुंचेंगे। इसके बाद 11:00 बजे उच्च विद्यालय अख्तियारपुर में निशुल्क स्वास्थ्य शिविर का उद्घाटन करेंगे. इस कार्यक्रम के बाद दोपहर 12:05 पर राधा माधव मंदिर अख्तियारपुर में पूजा अर्चना करेंगे. 12:35 पर उच्च विद्यालय अख्तियारपुर के संस्थापक स्वर्गीय रामधारी सिंह की 21वीं पुण्यतिथि पर श्रद्धा सुमन अर्पण करेंगे.  पुण्यतिथि कार्यक्रम में शामिल होने के बाद 1:05 पर कुदरा नदी के तट पर अवस्थित प्रस्तावित खैरा डायवर्सिटी पार्क कैमूर (32 एकड़) का निरीक्षण करेंगे. फिर 1:35 पर गरीबों असहयोग के बीच कंबल वितरण करेंगे, 2:00 बजे ग्रामीण जनता से संवाद करेंगे. इसके बाद 3:00 बजे पटना के लिए प्रस्थान का कार्यक्रम था.

बीजेपी ने उठाये सवाल

बिहार बीजेपी के प्रवक्ता डॉ. निखिल आनंद ने तेजप्रताप बड़ा हमला बोला है. कहा कि बिहार में अजब- गजब सरकार है। वन एवं पर्यावरण मंत्री तेज प्रताप यादव अपने निजी यात्रा एवं निजी कार्यक्रमों के लिए सरकारी हेलीकॉप्टर का दुरुपयोग कर रहे हैं। पिछले दिनों तेज प्रताप ने देर रात एक एक्सीडेंट के बाद शराबी को पुलिस प्रशासन को पकड़वाया था जिसके बाद में नीतीश जी ने पीठ थपथपाकर शाबासी दी थी। हो सकता है कि नीतीश जी ने इनाम के तौर पर तेजप्रताप को हेलीकॉप्टर से घूमने की आजादी दे दी है। तेज प्रताप के हेलीकॉप्टर यात्रा में पुष्पांजलि, स्वास्थ्य शिविर, कंबल वितरण, पूजा- पाठ, अपने निजी लोगों से मुलाकात और घूमने- फिरने के लिए हेलीकॉप्टर पर उड़ान भर रहे है। सिर्फ दिखावे के लिए अधिकारियों को दबाव देकर इसमें एक सरकारी कार्यक्रम जबरन घुसा दिया गया है ताकि कोई सवाल ना उठाए। उधर नीतीश कुमार जी अपने तथाकथित समाधान से ज्यादा विवाद यात्रा पर जब से गए हैं अलग-अलग तरह के विवाद और घटनाक्रम चल रहे हैं। नीतीश जी को डराकर- हड़काकर- बेवकूफ बनाकर राजद के मंत्री सरकारी पैसे पर ऐश- मौज कर रहे हैं।

दिलचस्प है कि "मिस्टर मालूम नहीं मुख्यमंत्री" को अपने राजकाज में हो रही किसी भी घटना, अपराध, विवादास्पद बयान की जानकारी नहीं होती है। मुख्यमंत्री ने अपने कोटे में बकायदा सूचना एवं जनसंपर्क विभाग रखा हुआ हुआ है। नीतीश जी की यात्रा में पूरा जिला प्रशासन के साथ गृह विभाग के पदाधिकारी तो छोड़िए डीजीपी और चीफ सेक्रेटरी को भी अक्सर साथ रखते हैं। बावजूद इसके मुख्यमंत्री को कुछ भी नहीं मालूम होता है और वे अनभिज्ञता जाहिर कर जवाब देने से बच निकलते हैं। बिहार के मुख्यमंत्री राजद के दबाव में है। राजद के विधायकों- मंत्रियों के अनर्गल बयान पर चुप्पी साध लेते हैं। कैबिनेट की बैठक में सीएम की फजीहत होती है। लेकिन मुख्यमंत्री जी डर से चुप है कि राजद कहीं जदयू को हटाकर अपनी सरकार न बना ले और मुख्यमंत्री जी को आश्रम के लिए चलता न कर दे।

Find Us on Facebook

Trending News