सूबे में नौ नदियां खतरे के लाल निशान से ऊपर, गंगा का बढ़ना जारी

सूबे में नौ नदियां खतरे के लाल निशान से ऊपर, गंगा का बढ़ना जारी

Patna: सूबे में बाढ़ का कहर लगातार जारी है. गंगा समेत नौ नदियां अब भी लाल निशान से ऊपर बह रही हैं. गंगा का बढ़ना जारी है. गुरुवार को भी इस नदी के जलस्तर में बक्सर से कहलगांव तक 3 से 12 सेमी की वृद्धि दर्ज की गई. पटना में यह नदी लाल निशान से मात्र 46 सेमी नीचे है. कहलगांव में लाल निशान को पार कर गई है. इस बीच गंडक और कोसी का डिस्चार्ज भी गुरुवार को नेपाल में हुई वर्षा के कारण कुछ बढ़ गया है.

नेपाल स्थित जलग्रहण क्षेत्र में वर्षा के कारण कोसी का डिस्चार्ज गुरुवार को बराह क्षेत्र में 1.30 से बढ़कर 1.62 और बराज पर 1.66 लाख घनसेक दर्ज किया गया है. वाल्मीकिनगर बराज पर गंडक का डिस्चार्ज भी 1.72 लाख घनसेक पहुंच गया है. कोसी बलतारा और कुरसेला में लाल निशान से ऊपर है. गंडक भी डुमरियाघाट में लाल निशान से ऊपर है. बूढ़ी गंडक रोसड़ा रेलपुल के पास कुछ नीचे उतरी है. गुरुवार को वहां नदी लाल निशान से 3.43 मीटर ऊपर बह रही है. समस्तीपुर रेलपुल के पास लाल निशान से यह नदी  2.22 मीटर ऊपर है.

दूसरी नदियों में बागमती सीतामढ़ी के कटौंझा में लाल निशान से रोज नीचे उतर रही थी, लेकिन गुरुवार को फिर चढ़कर 1.72 मीटर ऊपर बह रही है. दरभंगा में यह नदी अब भी लाल निशान से दो मीटर 30 सेमी मीटर ऊपर बह रही है. कमला नदी जयनगर में उतरी है. यह लाल निशान से फिर 30 सेमी ऊपर है. झंझारपुर में भी 1.20 मीटर ऊपर है.

लालबकेया पूर्वी चम्पारण में लाल निशान से ऊपर चढ़ने के बाद गुरुवार को फिर से अपनी सीमा में आ गई है. अधवारा सीतामढ़ी में घटकर लाल निशान से 40 सेमी ऊपर बह रही है. खिरोई नदी दरभंगा में 2 मीटर से ज्यादा ऊपर है. महानंदा किशनगंज और पूर्णिया दोनों जगह नीचे आ गई है. अलबत्ता घाघरा मंगलवार को एक बार फिर सीवान में लाल निशान से 86 सेमी ऊपर बहने लगी है.  



Find Us on Facebook

Trending News