स्वामी ने राम मंदिर को स्वराज आंदोलन से जोड़ा, कहा- गांधीजी को भी लगे थे 17 साल, राम मंदिर देर से सही लेकिन बनेगा जरुर

स्वामी ने राम मंदिर को स्वराज आंदोलन से जोड़ा, कहा- गांधीजी को भी लगे थे 17 साल, राम मंदिर  देर से सही लेकिन बनेगा जरुर

NEW DELHI : बीजेपी के वरिष्ठ नेता और अपने बयानों से अक्सर चर्चा में रहने वाले सुब्रमण्यन स्वामी ने राम मंदिर को लेकर एक बार फिर बड़ा बयान दिया है। दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम में बोलते हुए सुब्रमण्यम स्वामी ने राम मंदिर को महात्मा गांधी के स्वाराज आंदोलन से जोड़ दिया। उन्होंने कहा कि राम मंदिर बन कर रहेगा, देर से ही लेकिन मंदिर बनेगा जरूर।

 कार्यक्रम में बोलते हुए स्वामी ने कहा कि लोकसभा चुनाव 2019 से पहले राम मंदिर ना बनाएं तो इससे निराश नहीं होना चाहिए। चुनाव के बाद मंदिर वहीं बनाएंगे जिस जगह पर रामलला विराजमान हैं।

गांधीजी ने एक साल में स्वराज दिलाने का  किया था वादा

सुब्रमण्यन स्वामी ने कहा कि महात्मा गांधी ने 1929 में एक साल के अंदर स्वराज दिलाने को कहा था, लेकिन उन्हें यह करने में 17 साल अतिरिक्त समय लगा था। इसलिए राम मंदिर को लेकर निराश होने की जरूरत नहीं है। राम मंदिर बनेगा और अपनी ही जगह पर बनेगा यह निश्चित है।

पाकिस्तान के होंगे चार टुकड़े

इसके बाद स्वामी ने सर्जिकल स्ट्राइक का जिक्र करते हुए कहा कि दुनियाभर के कई विशेषज्ञों के मुताबिक यह अभूतपूर्व थी। वो दिन भी दूर नहीं जब हम देखेंगे कि पाकिस्तान के हमने चार टुकड़े कर दिए हैं।

Find Us on Facebook