हाउदी मोदी कार्यक्रम में भारत-अमेरिका का दिखा ऐसा संबंध, मोदी बोले अबकी बार ट्रंप सरकार, ट्रंप ने कहा भरोसेमंद दोस्त मोदी को धन्यवाद

हाउदी मोदी कार्यक्रम में भारत-अमेरिका का दिखा ऐसा संबंध,  मोदी बोले अबकी बार ट्रंप सरकार, ट्रंप ने कहा भरोसेमंद दोस्त मोदी को धन्यवाद

NEWS4NATION DESK : अमेरिका के हयूस्टन में रविवार की रात हाउदी मोदी कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में तकरीबन 50 हजार से अधिक लोग शामिल हुए। रविवार को पूरा ह्यूस्टन भारत के रंग में रंगा दिखा। सबसे बड़ी बात यह रही कि अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप ने इस कार्यक्रम में शिरकत की। यह पहला मौका रहा जब अमेरिका के किसी राष्ट्रपति ने किसी अन्य देश के राष्ट्राध्यक्ष के निजी कार्यकर्म में शरीक हुए। 

हाउदी मोदी कार्यक्रम के दौरान भारत और अमेरिका का एक अलग संबंध दिखने को मिला। जहां पीएम मोदी ने ट्रंप की मौजदूगी में ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम में कहा कि आज हमारे साथ जो शख्स मौजूद है वह किसी पहचान का मोहताज नहीं है। सीईओ के पद से लेकर सेना प्रमुख के पद तक उनकी पहुंच है। पीएम मोदी ने अबकी बार मोदी सरकार के अपने चुनावी नारे के तर्ज पर अमेरिका में नारा दिया, 'अबकी बार ट्रंप सरकार। वहीं अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि मैं यहां आकर बेहद रोमांचित हूं। ट्रंप ने कहा कि मैं भरोसेमंद दोस्त भारतीय पीएम मोदी को धन्यवाद कहता हूं। वह भारत के लिए काफी अच्छा काम कर रहे हैं।

पीएम ने कहा कि वैश्विक राजनीति में उनका नाम किसी पहचान का मोहताज नहीं है। उन्होंने कहा, मैं ट्रंप के नेतृत्व की प्रंशसा करता हूं।’ प्रधानमंत्री ने कहा कि यहां वाइट हाउस में ट्रंप भारत के सच्चे मित्र हैं। भारत-अमेरिकी संबंधों के बारे में बोलते हुए उन्होंने कहा कि हमारे संबंध ह्यूस्टन से हैदराबाद, शिकागो से शिमला, लॉस एंजिलिस से लुधियाना तक हैं।’ उन्होंने कहा, ‘मैं अपने परिवार (भारतीय समुदाय) से भारत के सच्चे दोस्त, महान अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप को मिलवाना चाहता हूं।’
 
 वहीं पीएम के संबोधन के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि मैं यहां आकर बेहद रोमांचित हूं। ट्रंप ने कहा कि मैं भरोसेमंद दोस्त भारतीय पीएम मोदी को धन्यवाद कहता हूं। वह भारत के लिए काफी अच्छा काम कर रहे हैं। इनके नतृत्व में भारत मजबूत हो रहा है। हम इस्लॉमिक आतंकवाद के खिलाफ मिलकर लड़ेगे।  वहीं ट्रंप ने कहा कि अगले साल एनबीए बास्केट बॉल खेल देखने के लिए हजारों लोगों मुंबई में जुटेंगे, क्या पीएम साहब आप मुझे बुलाएंगे। आप बुलाएंगे तो मैं आ सकता हूं।

वहीं ट्रेंप आतंकवाद पर बोलते हुए कहा कि हम दोनों ही आतंकवाद से अपनी सीमा को बचाने के लिए तैयार हैं। दोनों ही देश मिलकर आतंकवाद को रोकने के लिए काम करेंगे। ट्रंप-मोदी की जुगलबंदी से दोनों देशों के बिगड़ते दिख रहे कारोबारी रिश्ते भी सुधरते दिखे।
 
 


Find Us on Facebook

Trending News