तस्करी के ऐसे-ऐसे हथकंडे, शराब के साथ दो तस्कर गिरफ्तार, आखिर बिहार में शराबबंदी को कौन लगा रहा पलीता

तस्करी के ऐसे-ऐसे हथकंडे, शराब के साथ दो तस्कर गिरफ्तार, आखिर बिहार में शराबबंदी को कौन लगा रहा पलीता

कटिहार- बिहार में तस्कर शराब की तस्करी का नया-नया रास्ता खोज ले रहे हैं. ऐसे में शराब तस्कर दूसरे राज्यों से चोरी छिपे शराब मंगवा कर उसे मुंह मांगी कीमत पर बेचकर मोटा पैसा कमाते हैं. हालांकि पुलिस की कार्रवाई के डर से शराब बेचने वाले ऐसे लोग तस्करी का ऐसा-ऐसा जुगाड़ ढूंढ निकालते हैं जिसे देखकर पुलिस भी हैरान रह जाती है. ताजा मामलाकटिहार से है. 73 लीटर विदेशी शराब के साथ दो शराब तस्कर गिरफ्तार, गुप्त सूचना के आधार पर नगर थाना पुलिस ने बालू टोला फेसिया से चोरी के मोटरसाइकिल और 195 बोतल विदेशी शराब के साथ रंजीत मंडल और मोहम्मद खालिक आलम को गिरफ्तार किया है, पुलिस के माने तो शराब के इस खेप को यह दोनों शराब तस्कर स्थानीय स्तर पर खपाने की तैयारी में था.

बिहार में तमाम कड़ाई के बावजूद शराब की तस्करी चरम पर है. तो सवाल है कि आखिर, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के दृढ़ निश्चय और तमाम सरकारी प्रयासों के बावजूद राज्य में शराबबंदी क्यों विफल होती दिख रही है. पद्मश्री सुधा वर्गीज साफ कहती हैं, ‘‘सरकार की शराबबंदी को पुलिस ने हाईजैक कर लिया है. पुलिस शराबबंदी के नाम पर कमाई में लगी हुई है. सरकार ने शराब का कारोबार करने वालों को कोई अल्टरनेटिव नहीं दिया है. जब उन्हें कोई विकल्प नहीं मिलता है तो वे फिर से इसके धंधे से जुड़ जाते हैं.'' थाने में बैठकर शराब की दावत उड़ाने व शराब के धंधेबाजों को संरक्षण देने के आरोप पुलिस पर लगते रहे हैं.जब तक आम लोग जागरूक नहीं होंगे तथा भ्रष्ट अफसरों पर कानून का डंडा नहीं चलेगा तब तक पूर्ण शराबबंदी की कल्पना बेमानी है.



Find Us on Facebook

Trending News