सिंचाई विभाग की लचर व्यवस्था का शिकार हुए किसान, नहर में पानी नहीं छोड़ने से सूखे की स्थिति

सिंचाई विभाग की लचर व्यवस्था का शिकार हुए किसान, नहर में पानी नहीं छोड़ने से सूखे की स्थिति

AURANGABAD :  आज बिहार के कई जिले जहाँ बाढ़ की चपेट में है तो औरंगाबाद के चार प्रखंड पूरी तरह से सुखाड़ की चपेट में है. ये चार प्रखंड हैं देव, मदनपुर, रफीगंज और कुटुम्ब. इन चार प्रखंड में आज भी किसान सुखाड़ से जंग लड़ रहे है. अगर बात सिंचाई व्यवस्था की करें तो इन सभी इलाके में नहर से पानी पहुँचाया जा सकता है, जिससे किसानों के खेतों में हरियाली लाई जा सकती है. लेकिन सिंचाई विभाग के उदासीन रवैया के कारण आज इन चार प्रखंडों के किसान पूरी तरह से लाचार दिख रहे है. बताया जा रहा है की धान की फसल की रोपाई का समय अब समाप्ति के कगार पर है. लेकिन आज तक इनके यहाँ नहर का पानी नहीं पहुँच सका है. मिली जानकारी के अनुसार इन चार प्रखंडों में कोइल नहर का कैनाल भी बना हुआ है. लेकिन आज उसको देखने वाला कोई नहीं हैं. इस बिंदु पर किसानों से जब बातचीत किया गया तो उसने बताया कि आज तक इस नहर में पानी नही दिया गया है. उन्होंने यह भी बताया कि जब पानी के लिए विभागीय अधिकारी से मिला गया तो उन्होंने कोरोना में व्यस्त होने का हवाला देते हुये टाल मटोल कर दिया. जिसके कारण आज हम लोग भूखमरी के दहलीज पे खड़े हो गये हैं. 

औरंगाबाद से दीनानाथ मौआर की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News