सुशील मोदी ने पूछा - आप तो सुप्रीम कोर्ट जा रहे थे, फिर हाईकोर्ट क्यों चले गए, जदयू अध्यक्ष ने कहा - आप क्यों चिंता करते हैं

 सुशील मोदी ने पूछा - आप तो सुप्रीम कोर्ट जा रहे थे, फिर हाईकोर्ट क्यों चले गए, जदयू अध्यक्ष ने कहा - आप क्यों चिंता करते हैं

PATNA : बिहार में निकाय चुनाव में आरक्षण को लेकर सभी पार्टियों के बीच कई तरह की बयानबाजी हो चुकी है। इन सबके बीच कल जिस तरह से राज्य सरकार ने मामले में हाईकोर्ट में पुनर्विचार याचिका दायर की, इस फैसले पर भी सवाल उठ गए। सुशील मोदी ने पूछ लिया कि सरकार तो सुप्रीम कोर्ट जाने की  बात कर रही थी ?फिर review file करने का क्या औचित्य है ? ऐसे में जदयू की तरफ से इसका जवाब भी आया। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने कहा कि सुशील मोदी आपको चिंता करने की जरुरत नहीं है। बिना आरक्षण के चुनाव नहीं होगा, निश्चिंत रहिए। 


दरअसल, पिछले कई दिनों से ललन सिंह और सुशील मोदी के बीच ट्विटर वार चल रहा है। एक बार फिर जब आरक्षण के मुद्दे पर सरकार ने हाईकोर्ट में पुनर्विचार याचिका दायर की, सुशील मोदी ने सरकार की मंशा पर सवाल उठा दिए। उन्होंने लिखा कि सरकार तो सुप्रीम कोर्ट जाने की  बात कर रही थी ?फिर review file करने का क्या औचित्य है ?जिस कोर्ट ने सरकार की नगर निकाय चुनाव की याचिका ख़ारिज कर दी,वो क्या राहत देगी ?नीतीश कुमार का अति पिछड़ा विरोधी चेहरा बेनक़ाब हो गया।सरकार चुनाव को लटकाना चाहती है ।

वहीं सुशील मोदी के इस ट्विट पर ललन सिंह ने भी जवाद दिया। उन्होंने सुशील मोदी को री-ट्विट करते  हुए लिखा कि अतिपिछड़ा वर्ग कल्याण व आरक्षण विरोधी लोगों द्वारा अतिपिछड़ों के लिए चिंता करना सिर्फ दिखावा है। उनके लिए बिना रिजर्वेशन सुनिश्चित किए नगर निकाय चुनाव नहीं होगा.......सुशील जी आप निश्चिंत रहिए। 


Find Us on Facebook

Trending News