सबके निशाने पर हैं सुशील मोदी, धैर्य धारण करने की अपील करने वाले डिप्टी सीएम ने साध ली है चुप्पी

सबके निशाने पर हैं सुशील मोदी, धैर्य धारण करने की अपील करने वाले डिप्टी सीएम ने साध ली है चुप्पी

PATNA : आपदा पीड़ितों से धैर्य की अपील करने और फिर पूरे खुद पूरे परिवार समेत रेस्क्यू कराने के बाद बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी विपक्षी नेताओं के निशाने पर आ गए हैं। बिहार की तमाम विपक्षी  नेताओं ने एक साथ सुशील मोदी पर अटैक किया है।  तेजस्वी यादव, राबड़ी देवी, तेजप्रताप के अलावे कांग्रेस के कई नेताओं और पूर्व सांसद पप्पू यादव ने भी सीधे तौर पर डिप्टी सीएम सुशील मोदी पर अटैक किया है।

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने भी सुशील मोदी को जमकर खरी-खोटी सुनाई है।  विपक्षी नेताओं की बात छोड़िए रेस्क्यू किये जाने के बाद पटना डीएम के साथ परिवार के साथ  सड़क पर बेबस खड़े सुशील मोदी की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। लोग तरह तरह के कमेंट कर रहे हैं और कह रहे हैं कि देखिए सरकार किस कदर बेवश हो गई है।जब ये हीं बेवश हैं तो फिर भला आम आदमी का क्या होगा.......।

कांग्रेस नेता प्रेमचंद मिश्रा ने तो यहां तक कह दिया है कि सरकार की यह बेबसी सबको सोचने पर मजबूर कर रहा है। जब सरकार ही इस तरह से बेबस है तो फिर आम जनता का क्या होगा? वही पूर्व सांसद पप्पू यादव ने तो सुशील मोदी  को शर्म करने की सलाह दे डाली है। उन्होंने कहा है कि आपदा पीड़ितों से धैर्य रखने की अपील करने वाले सुशील मोदी खुद ही धैर्य खो दिए। तभी तो आनन-फानन में उन्होंने प्रशासन से बचाने की गुहार लगाई ।वे  प्रशासन के सहयोग से  तो निकल गए लेकिन  मोहल्ले वालों को मरने के लिए छोड़ दिया है ।जब वे अपने मोहल्ले के लोगों को सुरक्षित नहीं निकलवा सकते तो वे बाकी जगहों के लिए क्या करेंगे।

तेजस्वी यादव ने भी सीधे तौर पर डिप्टी सीएम सुशील मोदी पर हमला बोला है और पूछा है कि पिछले साल भी आपके घर में बारिश का पानी घुसा था लेकिन आपने क्या किया ? 15 साल आपने सिर्फ और सिर्फ विपक्षी नेताओं को गाली देने और उन पर तोहमत लगाने में बिता दिया। अगर कुछ काम किया होता तो आज आपको यह दृश्य देखने को नहीं मिलता।

रेस्क्यू के बाद सुशील मोदी की सड़क पर खड़ी तस्वीर जब से सामने आई है तभी से वे विपक्षी नेताओं के निशाने पर हैं।हालांकि दो दिन पहले ट्वीट कर आपदा पीड़ितो को धैर्य रखने की सलाह देने वाले सुशील मोदी ने चुप्पी साध ली है।उन पर ताबड़तोड़ हमले हो रहे लेकिन उनकी जुबान पूरी तरह से बंद है।   

विवेकानंद की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News