तेजस्वी के प्रण पर सुशील मोदी का तंज, कहा- प्रण हमारा हम फिर लूटेंगे, विकास की गाड़ी पलटेंगे

तेजस्वी के प्रण पर सुशील मोदी का तंज, कहा- प्रण हमारा हम फिर लूटेंगे, विकास की गाड़ी पलटेंगे

पटना... बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर आज महागठबंधन की ओर से संकल्प पत्र जारी किया गया। तेजस्वी का नया चुनावी संकल्प है प्रण हमारा, संकल्प बदलाव का। तेजस्वी के संकल्प पत्र की घोषणा के बाद से ही भाजपा ने इसे हास्यास्पद बताया है। भाजपा के वरिष्ठ नेता और उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने तेजस्वी के संकल्प पत्र पर तंज कसते हुए कहा कि तेजस्वी ने बदलाव का संकल्प नहीं लिया है, बल्कि उनका यह संकल्प है कि प्रण हमारा हम फिर लूटेंगे, विकास की गाड़ी पलटेंगे। वो यहीं नही रूके और कहा कि कांग्रेस और राजद को बताना चाहिए कि बिहार में किसके लंबे कुशासन के चलते कटिहार की जूट मिल, रोहतास का सीमेंट उद्योग और उत्तर बिहार की चीनी मिलें बंद हुईं।

महागठबंधन को नई टैग लाइन जारी करनी चाहिए

प्रण हमारा, हम फिर लूटेंगे।

विकास की गाड़ी पलटेंगे। 


सुशील मोदी ने कहा कि पौराणिक कथा के अनुसार एक ऐसा शंख था, जो किसी को निराश नहीं करता था। उससे जो भी मांगा जाता, वह उसे पूरा करने का वचन दे देता, लेकिन किसी को कुछ नहीं मिलता। उसे डपोर शंख कहा जाने लगा। महागठबंधन का घोषणापत्र भी डपोर शंख है, जो किसानों की कर्ज माफी या दस लाख लोगों को नौकरी जैसे वचन देता है, उसे पूरे नहीं कर सकता। वे बाहुबली, बलात्कार के आरोपी और भ्रष्टाचार-प्रिय साथियों की मिलीभगत से  सत्ता को केवल लूट का जरिया बनाना जानते हैं।

एनडीए सरकार में विकास का पहिया घूमा

बिहार की पहली एनडीए सरकार ने साढ़े तीन लाख शिक्षकों को नौकरी दी, 15 साल के भीतर उनके वेतन में 60 फीसद वृद्धि की और अब उन्हें ईपीएफ का लाभ भी मिल रहा है। लालू प्रसाद उस समय शिक्षकों की डिग्री को फर्जी बता कर सबकी नौकरी लेना चाहते थे, लेकिन उनकी पार्टी आज शिक्षकों की सबसे बड़ी हितैषी बन रही है। वे तो वोट लेने के लिए चांद पर जमीन देने का भी वादा कर सकते हैं।



Find Us on Facebook

Trending News