नीतीश जी ! चार्जशीटेड तेजस्वी को बगल में बैठाकर भ्रष्टाचार पर भाषण दे रहे हैं, सुशील मोदी का मुख्यमंत्री से तीखा सवाल

नीतीश जी ! चार्जशीटेड तेजस्वी को बगल में बैठाकर भ्रष्टाचार पर भाषण दे रहे हैं, सुशील मोदी का मुख्यमंत्री से तीखा सवाल

पटना. भाजपा सांसद सुशील मोदी ने शुक्रवार को कहा कि लालू और तेजस्वी यादव से जुड़े भ्रष्टाचार के मामलों में जांच एजेंसियों को सारे दस्तावेज जदयू के अध्यक्ष ललन सिंह ने ही उपलब्ध कराए थे. आज जदयू ने उन्हीं लोगों के साथ सरकार बना ली है. बावजूद इसके मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कहते हैं कि वे किसी भ्रष्टाचारी को नहीं बचाते हैं. 

उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की टिप्पणी पर पलटवार करते हुए कहा, नीतीश कुमार कह रहे हैं भ्रष्टाचारियों को नहीं बचाता हूँ. हम पूछते हैं कि आप के बगल में कौन बैठा है? आपका उपमुख्यमंत्री. वही तेजस्वी जिसके साथ 5 साल पहले आपने गठबंधन यह कहते हुए तोड़ दिया कि सीबीआई ने उनके यहां छापा मारा है. तेजस्वी यादव के 700 करोड़ रुपए का बिहार का सबसे बड़ा मॉल बनाने और आईआरसीटीसी घोटाले मामले में ललन सिंह और शिवानंद तिवारी ने सारे दस्तावेज सीबीआई को उपलब्ध कराए. उनके साथ ही सरकार बनाकर वही आज कह रहे हैं कि भ्रष्टाचारियों को नहीं बचाता हूँ. 

मोदी ने कहा कि नौकरी के बदले जमीन मामले में भी जदयू के लोगों ने ही केंद्रीय एजेंसियों को दस्तावेज उपलब्ध कराया. आज अब सीबीआई इन मामलों में लालू तेजस्वी परिवार के खिलाफ कार्रवाई कर रही है तो आप कहते हैं कि उन्हें फंसाया जा रहा है. जबकि केंद्रीय एजेंसियां सिर्फ इनके खिलाफ कार्रवाई कर रही हो ऐसी बात नहीं है. 

उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में पार्थ चटर्जी के यहां से 20 करोड़ रुपए मिले वे जेल में हैं. झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन मुख्यमंत्री पद पर रहते हुए अपनी पत्नी के नाम पर खनन पट्टा जारी किया. इसी तरह दिल्ली सत्येन्द्र जैन जेल में हैं. महाराष्ट्र में अनिल देशमुख पर कार्रवाई हुई है. सुशील मोदी ने कहा कि हम पूछते हैं कि क्या इन लोगों के खिलाफ कार्रवाई नहीं होती या सीबीआई, ईडी को बंद कर दिया जाए. 

केंद्रीय एजेंसियों द्वारा देश भर में भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है. तेजस्वी यादव की तो 20 से ज्यादा संपत्ति को सीबीआई- ईडी ने जब्त कर लिया है. बावजूद इसके नीतीश कुमार कहते हैं कि हम भ्रष्टाचारी को नहीं बचाते हैं. जबकि वे भ्रष्टाचार में लिप्त व्यक्ति को उप मुख्यमंत्री बनाकर अपने बगल में बैठाए हुए हैं. उन्होंने कहा कि सीएम नीतीश को कहना चाहिये कि उन्होंने भ्रष्टाचार से समझौता कर लिया है.  


Find Us on Facebook

Trending News