EBC आरक्षण पर CM की पिट गयी भद्द : सुशील मोदी बोले- 'नीतीश की हालत उस पठान जैसी, जिसने 40 जूते भी खाए और 40 प्याज भी'

EBC आरक्षण पर CM की पिट गयी भद्द : सुशील मोदी बोले- 'नीतीश की हालत उस पठान जैसी, जिसने 40 जूते भी खाए और 40 प्याज भी'

पटना. राज्य सरकार ने नगर निकाय के चुनाव का रास्ता अति पिछड़ा वर्ग के आरक्षण के साथ साफ कर दिया है। चीफ जस्टिस संजय करोल की खंडपीठ ने राज्य सरकार व अन्य की पुनर्विचार याचिकाओं की सुनवाई की। राज्य सरकार ने कोर्ट को बताया कि अति पिछडे़ वर्ग के राजनीतिक पिछडे़पन के लिए एक विशेष कमीशन का गठन किया गया है। राज्य सरकार द्वारा चुपके से आयोग गठित करने की जानकारी देने के बाद पूर्व डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने सीएम नीतीश कुमार को निशाने पर लिया है और कहा है कि नीतीश कुमार को इस मामले में मुंह की खानी पड़ी।

भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील मोदी ने कहा कि 'नीतीश कुमार को मुँह की खानी पड़ी। कोर्ट के सामने आत्म समर्पण करना पड़ा। यही निर्णय पहले कर दिया होता तो यह फ़ज़ीहत नहीं होती। नीतीश कुमार की हालत उस पठान जैसी है जिसने 40 जूते भी खाए और 40 प्याज़ भी खाया।' उन्होंने कहा, 'नीतीश का अहंकार टूटा।AG और राज्य निर्वाचन आयोग की अनुशंसा को दरकीनार कर dedicated आयोग नहीं बनाने पर अड़े थे।औंधे मुंह गिरे।EBC का करोड़ों खर्च का क्या होगा?'

बिहार के महाधिवक्ता ललित किशोर ने बताया है कि सरकार द्वारा एक डेडिकेटेड आयोग बनाया गया है। ये कमीशन राज्य में अतिपिछडे़ वर्ग में राजनीतिक पिछडे़पन पर अध्ययन कर राज्य सरकार को रिपोर्ट सौपेंगी। इसके बाद राज्य सरकार के रिपोर्ट के आधार पर राज्य चुनाव आयोग राज्य में नगर निकायों का चुनाव कराएगी। कोर्ट ने इसके साथ ही राज्य सरकार व अन्य द्वारा दायर पुनर्विचार याचिकाओं को निष्पादित कर दिया।

दरअसल, नगर निकाय चुनाव में ईबीसी आरक्षण पर 4 अक्टूबर को पटना हाईकोर्ट ने फैसला सुनाया था। इसमें कोर्ट ने निकाय चुनाव में ईबीसी आरक्षण पर रोक लगा दी थी। इसके बाद राज्य निर्वाचन आयोग ने नगर निकाय चुनाव चुनाव को स्थगित कर दिया था। इसके बाद राज्य सारकार ने हाईकोर्ट में पुर्नविचार याचिका दायर की थी। इस पर हाईकोर्ट ने आज सुनवाई की। इसमें बिहार सरकार ने बताया कि ईबीसी आरक्षण के लिए सरकार ने विशेष कमीशन का गठन किया है।

Find Us on Facebook

Trending News