सुशील मोदी ने किया क्लीयर....हमारे यहां नेतृत्व को लेकर न कोई संशय है न कोई अंतर्कलह

सुशील मोदी ने किया क्लीयर....हमारे यहां नेतृत्व को लेकर न कोई संशय है न कोई अंतर्कलह

PATNA: बिहार में जेडीयू की तरफ से ठेठ बिहार नारा- क्यूं करें विचार..ठीके तो है नीतीश कुमार के बाद बिहार की राजनीति गरम है।इस नारा के बाद न सिर्फ विपक्षी पार्टी बल्कि जेडीयू और बीजेपी के कई नेताओं ने इस तरह के नारों पर सवाल उठा दिए हैं।इधर बिहार बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुशील मोदी ने कहा है कि एनडीए में नेतृत्व को लेकर कोई संशय नहीं है।उन्होंने नेतृत्व को लेकर किसी अंतर्कलह से भी इंकार किया।मोदी ने ट्वीट कर कहा कि राज्य में विधानसभा के चुनाव होने में जब एक साल से ज्यादा वक्त बचा है, तब एनडीए के लिए यह चुनावी मोड में आने का नहीं, कार्यकाल की शेष अवधि में विकास के ज्यादा से ज्यादा काम करने का समय है। 

उन्होंने अपने दूसरे ट्वीट में तेजस्वी प्रसाद यादव पर तंज कसते हुए कहा कि वे विधानसभा के पिछले सत्र में लगभग गायब रहे। उन्होंने न विधायक के नाते आम जनता से जुड़ा कोई सवाल पूछा, न विरोधी दल के नेता के रूप अपनी अपनी भूमिका  निभायी।  जब महागठबंधन में ऐसे व्यक्ति को नेता मानने से इनकार करने वाली आवाजें तेज हो रही हैं, तब विफलता छिपाने के लिए वे अपराध की चुनिंदा घटनाओं को मुद्दा बनाने की कोशिश करते हैं, यह जाने बगैर की संबंधित घटनाओं में कार्रवाई क्या हुई। 

 उन्होंने कहा कि पोस्टर के जरिये जनमत बनाने का अधिकार सभी दलों को है। कुछ लोग जनमत बिगाड़ने या राज्य की छवि धूमिल कर निवेशकों को डराने के लिए भी पोस्टर का दुरुपयोग कर रहे हैं।  संसदीय चुनाव के समय भी बहुत सारे पोस्टर लगाये गये थे, लेकिन जनता ने किस पर भरोसा किया, किनके पोस्टर को रद्दी-कबाड़ साबित किया, यह सामने है। सामान्य वर्ग के गरीबों को रिजर्वेशन देने का विरोध और  सेना के शौर्य का अपमान करने वालों के पोस्टर कहां चले ? 

Find Us on Facebook

Trending News