सुशील मोदी ने पूर्व MLA अबू दोजाना को लपेटा, दान में मिली जमीन को 3.5 करोड़ में बिक्री की CBI करे जांच

सुशील मोदी ने पूर्व MLA अबू दोजाना को लपेटा, दान में मिली जमीन को 3.5 करोड़ में बिक्री की CBI करे जांच

पटना. रेलवे में नौकरी के बदले जमीन लिखवाने के मामले में राजद सुप्रीमो लालू यादव सियासी दलों के निशाने पर हैं। मामले में सीबीआई ने लालू के करीबी भोला यादव और एक रेल कर्मी हृदयानंद को गिरफ्तार किया है। हृदयानंद पर आरोप है कि उन्होंने लालू यादव की बेटी को जमीन देकर नौकरी पायी थी। इस पर बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम ने राजद और लालू परिवार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि हृदयानंद चौधरी से दान में मिली जमीन को लालू की बेटी हेमा यादव ने 3.5 करोड़ में बेच दिया है। साथ ही सुशील मोदी ने कहा कि इस मामले में सुरसंड के पूर्व विधायक अबू दोजाना की भी जांच होनी चाहिए।

सुशील कुमार मोदी ने कहा कि रेलवे में ‘नौकरी के बदले जमीन’ घोटाले में गिरफ्तार रेलवे के राजेंद्र नगर कोचिंग कॉन्प्लेक्स में कार्यरत खलासी गोपालगंज निवासी हृदयानंद चौधरी ने जिस 70 लाख की जमीन लालू प्रसाद यादव की 5वीं बेटी हेमा यादव को दान कर दी थी, उस जमीन को हेमा यादव ने अपनी मां यानि राबड़ी देवी के साथ मिलकर उपरोक्त जमीन को 3 करोड़ 50 लाख में सुरसंड के पूर्व विधायक सैयद अबू दोजाना की कंपनी मेरिडियन कंस्ट्रक्शन को बेच दिया।

उन्होंने कहा कि जिस पिंटू कुमार को नौकरी मिली, उनके पिता विष्णु देव राय ने हृदयानंद चौधरी को जमीन लिख दी। हृदयानंद चौधरी ने हेमा यादव को गिफ्ट कर दिया और हेमा यादव ने 3 साल बाद अबू दोजाना की कंपनी को तीन करोड़ में बेच दिया।

उन्होंने कहा कि इस राउंड ट्रिपिंग के कारण हेमा यादव और राबड़ी देवी को 3.5 करोड़ भी मिल गया और पूर्व विधायक की कंपनी में जमीन की खरीद दिखला दी गई। सीबीआई को अबू दोजाना की भी जांच करनी चाहिए और दान में मिली जमीन को 3.5 करोड़ में बिक्री की भी गहनता से जांच करनी चाहिए।

Find Us on Facebook

Trending News