OIC की बैठक में गेस्ट ऑफ ऑनर को तौर पर शामिल हुई सुषमा स्वराज, आतंकवाद को बताया पूरी दुनिया के लिए सबसे बड़ा खतरा

OIC की बैठक में गेस्ट ऑफ ऑनर को तौर पर शामिल हुई सुषमा स्वराज, आतंकवाद को बताया पूरी दुनिया के लिए सबसे बड़ा खतरा

NEWS4NATION DESK : पाकिस्तान के विरोध के बावजूद और भारत के विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को बैठक में शामिल नहीं किए जाने की मांग को ऑर्गनाइजेशन ऑफ इस्लामिक को-ऑपरेशन द्वारा ठुकरा दिया गया। 

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने आज शुक्रवार को अबू धाबी में मुस्लिम देशों के संगठन ऑर्गनाइजेशन ऑफ इस्लामिक को-ऑपरेशन (OIC) की बैठक में गेस्ट ऑफ ऑनर के तौर पर शामिल हुई हैं। बैठक को संबोधित करते हुए उन्होंने आतंकवाद के मुद्दे को प्रमुखता से उठाया है। 

भारतीय विदेश मंत्री ने कहा कि आतंकवाद आज दुनिया के सबसे बड़ा खतरा बन गया है। आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई किसी मजहब के खिलाफ नहीं है।OIC के मंच से उन्होंने जोर देकर कहा कि दुनिया आज आतंकवाद की समस्या से त्रस्त है और आतंकी संगठनों की टेरर फंडिंग पर रोक लगनी चाहिए। 

सुषमा स्वराज ने बगैर किसी देश का नाम लिएपाकिस्तानप्रायोजित आतंकवाद का भी जिक्र करते हुए कहा कि भारत लंबे समय से आतंकवाद से से जूझ रहा है।आतंकवाद का दंश बढ़ रहा है, दायरा बढ़ रहा है। 

विदेश मंत्री ने कहा कि आज आतंकवाद और अतिवाद एक नए स्तर पर है। उन्होंने कहा कि आतंकवाद को संरक्षण और पनाह देने पर रोक लगनी चाहिए। आतंकी संगठनों की फंडिंग रुकनी चाहिए।
 
 सुषमा ने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई किसी मजहब के खिलाफ टकराव नहीं है। धर्म को शांति का पर्याय बताते हुए उन्होंने कहा, 'जिस तरह इस्लाम का मतलब शांति है, अल्लाह के 99 नामों में से किसी भी नाम का अर्थ हिंसा नहीं है, उसी तरह हर धर्म शांति के लिए हैं।

Find Us on Facebook

Trending News