ताइवान की सीमा में चीन ने भेजे 18 युद्धक विमान, अमेरिका से बोला- आग से मत खेलो

ताइवान की सीमा में चीन ने भेजे 18 युद्धक विमान, अमेरिका से बोला- आग से मत खेलो

Desk: चीन और ताइवान के बीच तनातनी में ताइवान के अमेरिकी सपोर्ट को लेकर चीन ने अमेरिका को सीधी चेतावनी दी है कि वह आग से न खेले, नहीं तो जल जाएगा. अपनी बात को और मजबूती देने के लिए उसने ताइवान में 18 लड़ाकू विमान भेजे हैं. चाइना पीपल्स लिबरेशन आर्मी, ताइवान स्ट्रेट में युद्धाभ्यास कर रही है.

खबर के अनुसार, अमेरिकी दूत कैथ क्रैच इस समय दो दिवसीय दौरे पर ताइवान में हैं. ऐसे समय में चीन ने ताइवान स्ट्रेट में 18 युद्धक विमान उड़ाकर अपना शक्ति प्रदर्शन किया. आइलैंड्स की डिफेंस मिनिस्ट्री ने कहा कि चाइना ईस्टर्न थियेटर कमांड के 16 फाइटर जेट और 2 बॉम्बर्स विमानों ने ताइवान की वायु रक्षा सीमा को शुक्रवार को क्रॉस किया है.

ताइवान की वायुसीमा में घुसने वाले दो बॉम्बर्स विमान एच-6 हैं जबकि इसमें 8 फाइटर्स विमान जे-16, 4 विमान जे-11 और 4 फाइटर्स विमान जे-10 हैं. बता दें कि चीन लगातार अपनी उल्टी-सीधी हरकतों की वजह से अपने पड़ोसी देशों को परेशान करता रहता है. बुधवार को चीन ने अपने दो एंटी-सबमरीन फाइटर जेट्स अपने एक पड़ोसी देश की वायुसीमा में उड़ाए. जब उस देश की वायुसेना ने उन्हें अंजाम भुगतने की धमकी दी तो चीन के फाइटर जेट्स दुम दबाकर वापस लौट गए. यह घटना ऐसे मौके पर हुई जब उस छोटे से देश में अमेरिका के एक वरिष्ठ अधिकारी आने वाले थे.

इससे पहले बुधवार को चीन के दो एंटी-सबमरीन फाइटर जेट्स ताइवान की वायु सीमा में प्रवेश कर गए थे. तत्काल ताइवानी वायुसेना और रक्षा मंत्रालय ने चीनी वायुसेना के फाइटर जेट्स को कहा कि तत्काल वापस जाओ नहीं तो अंजाम भुगतने के लिए तैयार हो जाओ. इसके बाद चीनी वायुसेना के दोनों फाइटर जेट्स तेजी से वापस भाग गए थे.

Find Us on Facebook

Trending News