दुकान बंद कर रहे चाय दुकानदार ने चाय देने से किया मना, गुस्साए बदमाशों ने वहीं कर दी हत्या

दुकान बंद कर रहे चाय दुकानदार ने चाय देने से किया मना, गुस्साए बदमाशों ने वहीं कर दी हत्या

NAUGACHHIA  : नवगछिया पुलिस जिला के रंगरा सहायक थाना क्षेत्र के सधुवा बाजार में बुधवार को देर रात्री एक चाय दुकानदार के सिर पर धारदार हथियार से वार कर अपराधियों ने हत्या कर दी है. मृतक कृष्ण देव कुमार साह उर्फ कृष्णा (32) पिता शिवनंदन साह सधुआ गांव का ही है. घटना के विरोध में सधुवा बाजार की सभी दुकानें गुरुवार को स्वतः बंद रही. व्यवसायियों में उक्त घटना के बाद खौफ है.  घटना के कारणों के बारे में अभी कोई स्पष्ट कारण पता नहीं चल पाया है. पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम मायागंज अस्पताल में करवा पर परिजनों को सुपुर्द कर दिया है

घटना के संबंध में मृतक की पिता शिवनंदन साह ने बताया कि उसका पुत्र सधुआ बाजार में ठेला लगा कर चाय एवं नाश्ते की दुकान चलाता था. हर दिन की तरह वह रात्रि 9:00 बजे के बाद अपना दुकान बंद कर ठेला लेकर घर आया था. मैं अपने घर में खाना खा रहा था. इसी दौरान घर के बाहर किसी चीज के गिरने की आवाज आई तो मैं बाहर निकल कर देखा कि घर के गेट के आगे ठेले के पास मेरा बेटा खून से लथपथ लहूलुहान होकर गिरा हुआ है. सिर के ऊपर किसी धारदार हथियार से अपराधियों द्वारा हमला किया गया है. सिर से काफी खून बह रहा था. घटना के बाद हल्ला होने पर आसपास के पड़ोसियों के द्वारा उसे उठाकर स्थानीय रंगरा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया, जहां से प्राथमिक उपचार के बाद उसे मायागंज रेफर कर दिया गया. जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई.. 

दुकान बंद कर दिए जाने के बाद नहीं दी चाय तो अपराधियों ने ले ली जान

घटना का कारण क्या है, इस संदर्भ में कोई कुछ भी पक्के तौर पर नहीं बता रहा है. मृतक की मां निरोधा देवी ने बताया कि मेरा बेटा बिल्कुल सीधा साधा था. उनका किसी से भी लड़ाई झगड़ा नहीं था. पता नहीं किन कारणों से मेरे बेटी की हत्या की गई है. मगर सधुआ बाजार के आसपास के लोगों ने अपना नाम न छापने के शर्त पर बताया कि कृष्णा अक्सर लेट से दुकान बंद कर घर जाता था. बुधवार की देर रात्रि वे अपना दुकान बंद कर रहे थे. इसी दौरान तीन चार लोग उनके दुकान पर आए थे और चाय देने की मांग करने लगे. 

मगर उन्होंने दुकान बंद कर देने की बात कह कर चाय देने से मना किया. इसके बाद वे लोग गांव की तरफ चले गए और कृष्णा दुकान बंद कर अपने घर की ओर ठेला लेकर चले गए. कुछ देर बाद पता चला कि कृष्णा के ऊपर किसी ने धारदार हथियार से हमला कर दिया है. इधर यह बात भी सामने आयी है कि दो दिन पहले कुछ असामाजिक तत्वों ने कृष्णा से उधार सिगरेट की मांग की थी. उधार सिगरेट देने से उसने मना कर दिया था. कुछ लोग उधार सिगरेट नहीं देने को भी घटना का कारण मान रहे हैं. बहरहाल हकीकत क्या है, यह पुलिस जांच में ही स्पष्ट हो पायेगा. 

वृद्ध माता-पिता के छिन गया बुढ़ापे की लाठी

बताते चलें कि मृतक दो भाइयों में सबसे छोटा था. एक बड़ा भाई आज से 20 साल पूर्व ही घर छोड़कर कहीं चला गया जो आज तक अपने घर वापस नहीं आया. कृष्णा के पिता शिवनंदन साह एवं मां निरोधा देवी काफी वृद्ध है जो अपनी जिंदगी के दिन गिन रहे हैं. अपने वृद्ध माता-पिता का कृष्णा ही एकमात्र सहारा था. कृष्णा की शादी 5 साल पूर्व हुई थी उसे 3 वर्षीय पुत्री एवं 1 वर्षीय 2 पुत्र है. घटना के वक्त पत्नी पूजा देवी अपने मायके में थी. कृष्णा ही ठेले पर दुकान चलाकर पूरे परिवार का भरण पोषण कर रहा था. घटना के बाद पूरे परिवार में कोहराम मच गया है. पत्नी पूजा देवी एवं मां निरोधा देवी का रो रो कर बुरा हाल है. 

मृतक की पत्नी और ससुरालवालों ने कहा, सड़क हादसे में हुई कृष्णा की मौत

मृतक कृष्णा साह की पत्नी पूजा कुमारी और उसके मायके वालों ने बताया कि घटना कैसे हुई, यह उनलोगों को पता नहीं है. लेकिन जानकारी मिली है कि किसी वाहन के धक्के से कृष्णा गंभीर रूप से घायल हो गए और मयागंज भागलपुर में इलाज के क्रम उसकी मृत्यु हो गयी. 

स्थानीय लोगों ने की मुआवजे और जल्द से जल्द अपराधियों को गिरफ्तार करने की मांग

गुरुवार को घटना की सूचना मिलते ही भाजपा के जिलाध्यक्ष विनोद कुमार मंडल, लोजपा के जिला अध्यक्ष अवधेश पासवान, आजाद हिंद मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेंद्र यादव, रंगरा चौक प्रखंड के पंचायत समिति के प्रमुख संजीव कुमार यादव उर्फ मोती यादव समेत अन्य लोग मृतक के घर पर पहुंचे. स्थानीय लोगों ने पुलिस प्रशासन से जल्द से जल्द अपराधियों को गिरफ्तार करने और परिवार को मुआवजा देने की मांग की है

Find Us on Facebook

Trending News