गुंडों ने पहले अल्पसंख्यक शिक्षिका से की छेड़खानी, अब केस उठाने की धमकी दे रहा वार्ड पार्षद पति. पटना पुलिस की चुप्पी से उठ रहे सवाल

गुंडों ने पहले अल्पसंख्यक शिक्षिका से की छेड़खानी, अब केस उठाने की धमकी दे रहा वार्ड पार्षद पति. पटना पुलिस की चुप्पी से उठ रहे सवाल

PATNA : पटना के एक दबंग वार्ड पार्षद पति की छेड़खानी और अश्लील हरकतों की शिकार बनी महिला टीचर को अब प्रताड़ित किया जा रहा है।दबंगों के द्वारा अब धमकी दी जा रही बावजूद इसके पुलिस चुप्पी साधे बैठी है। थाने में केस दर्ज कराने के एक हफ्ता बीत गये लेकिन पटना की तेजतर्रार पुलिस के हाथों छेड़खानी करने वाला एक भी आरोपी गिरफ्त में नहीं आया है। दबंगों की धमकी से परेशान शिक्षिका को अब जान का डर सताने लगा है। बड़ा सवाल यही कि क्या पटना की तेजतर्रार पुलिस किसी और बड़ी घटना का इंतजार है?

शिक्षिका ने अब महिला आयोग में लगाई गुहार

पीडित शिक्षिका ने महिला आयोग के सामने न्याय और जान बचाने की गुहार लगायी है. महिला ने  गर्दनीबाग थाना पुलिस की शिकायत करते हुई कही है कि अब तक पुलिस कोई कार्रवाई नहीं की है।सिर्फ जांच का आश्वासन दिया जा रहा है। ऐसा लगता है कि स्थानीय पुलिस वार्ज पार्षद पति और उसके साथियों की मदद करने में लगी है. महिला शिक्षिका ने  आयोग के सामने कही है कि थाने में अपना बयान दर्ज कराने के बाद जब वह वापस लौट रही थी तो रास्ते में अभियुक्त मंटू ने गाड़ी रूकवाकर धमकी दी और दुर्व्यवहार भी किया

जानिए पूरा मामला

बता दें कि,10 दिन पहले गर्दनीबाग की एक गर्ल्स स्कूल की महिला शिक्षिका ने स्थानीय वार्ड पार्षद के पति अविनाश कुमार मंटू और उसके साथियों पर सनसनीखेज आरोप लगाकर गर्दनीबाग थाने में दर्ज करायी थी। केस में आरोप लगाया गया था कि वार्ड पार्षद का पति ने शिक्षिका से छेड़खानी की और जबरन गलत काम करने की कोशिश की।वार्ड पार्षद का पति और उसके साथी सड़क पर रोक कर अश्लील फब्तियां कसी और विरोध करने पर छेड़छाड़ भी किया.इस मामले में शिक्षिका की शिकायत पर वार्ड पार्षद और उसके पति अविनाश कुमार मंटू समेत अन्य पर केस दर्ज किया गया।  

पार्षद पति पर पहले भी दर्ज हुए हैं केस 

बता दें कि जिस शिक्षिका ने केस दर्ज कराई है वह अल्पसंख्यक समाज से आती है।बताया जाता है कि छेड़खानी का आरोपी वार्ड पार्षद पति अविनाश कुमार मंटू पर पहले भी कई संगीन आरोप लगते रहे हैं। गरीबों पर गोलीबारी करने के एक मामले में गर्दनीबाग थाने में 11 अप्रैल को भी केस दर्ज करायी गयी थी. लेकिन पुलिस ने जांच के बाद मामला रफा दफा कर दिया।

Find Us on Facebook

Trending News