तकनीकी मदद ने फैनी से बचाई हजारों लोगों की जान, यूएन ने की सरकार के तैयारियों की सराहना

तकनीकी मदद ने फैनी से बचाई हजारों लोगों की जान, यूएन ने की सरकार के तैयारियों की सराहना

NEWS4NATION DESK: चक्रवाती तूफान फैनी अब धीरे-धीरे बंगाल में पहुँच रहा है, जहाँ इसका असर कमजोर पड़ने लगा है. तकनीकी मदद और सजगता की बदौलत केंद्र और राज्य की सरकारों ने फैनी तूफान से हजारों लोगों की जान बचाने में सफलता पाई है. 20 साल पहले उड़ीसा में आये ऐसे ही तूफान से दस हज़ार लोगों की जान चली गई थी. इस बार फैनी से 12 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है. 

केंद्र और राज्य की व्यापक तैयारी

फैनी तूफान से निपटने के केंद्र और उड़ीसा सरकार की ओर से पूरी तैयारी कर ली गई थी. इसके लिए 300 हाई पावर बोट को तैनात रखा गया था. किसी भी अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए 43 हज़ार कर्मचारी और कार्यकर्ता मुस्तैद थे. आपदा प्रबंधन विभाग के एक हज़ार से अधिक कर्मचारी अधिक खतरे वाले जगहों पर मौजूद थे. इसमें संचार माध्यमों का भरपूर प्रयोग किया गया, जिससे 12 लाख लोग सुरक्षित निकल सके. खासकर आईआईटी खड़गपुर का अहम् योगदान है. मौसम विभाग के कर्मचारियों ने जान लिया था की तूफान का असर तेज होने वाला है. इससे समय से पहले लोगों को शिविरों तक पहुंचाने में मदद मिली. 

कई देशों ने की तैयारियों की सराहना

फैनी तूफान से निपटने में केंद्र और राज्य सरकार की तैयारियों की कई देशों ने सराहना की है. अमेरिकी मीडिया ने भी माना है की व्यापक तैयारियों से भारत में हजारों लोगों की जान बचाई जा सकी है. यूएन ने भी भारत के तैयारियों की सराहना की है.      


Find Us on Facebook

Trending News