तेज और तेजस्वी के नेतृत्व क्षमता से गदगद हैं लालू, लेकिन जीत से चंद कदम दूर रहने का भी है मलाल

तेज और तेजस्वी के नेतृत्व क्षमता से गदगद हैं लालू, लेकिन जीत से चंद कदम दूर रहने का भी है मलाल

पटना... बिहार चुनाव मंे एग्जिट पोल के नतीजों से इतर परिणाम आने के बाद राजद खेमें में मायूसी जरूर है, लेकिन राजद सुप्रीमों लालू प्रसाद ने अपने दोनों बेटों के नेतृव्त क्षमता देखकर गदगद हैं। बस लालू को इस बात का मलाल है कि सत्ता के इतने करीब आकर जीत चंद कदम दूर रह गई। 

सूत्रों से मिली जानकारी के बाद जब तक लालू परिणाम फाइनल नहीं हो गया तब तक लालू प्रसाद टिवी से चिपके रहे। शाम 6 बजे से 11 बजे तक लालू प्रसाद ने 10 बार से अधिक बात की। 

बता दें कि लालू के दोनो लाल ने 2015 के बाद 2020 में भी चुनाव जीतकर अपनी विधायकी को बरकरार रखा। लालू के बड़े बेटे तेजप्रताप ने हसनपुर से चुनाव जीता तो छोटे बेटे तेजस्वी यादव ने अपने पारंपरिक सीट राघोपुर से चुनाव जीतकर विधानसभा में पहुंचे। हालाकि तेजस्वी यादव नेता प्रतिपक्ष हैं और अगर एनडीए की सरकार को राज्यपाल की ओर से न्यौता मिला तो उम्मीद के अनुरूप वो फिर एक बार नेता प्रतिपक्ष ही होंगे। 

इस बार भी चुनाव में राजद 75 सीट लेकर सबसे बड़ी पार्टी बनी, हालाकि उसे 5 सीटों का नुकसान जरूर हुआ है। इस बीच जब तक एनडीए की सरकार नहीं बन जाती है, तब तक राजद की नजर राजग के अगले कदम पर होगी।


Find Us on Facebook

Trending News