RJD से तेजप्रताप आउट! शिवानंद तिवारी का दावा- दल से निकालने की जरूरत ही नहीं पड़ी खुद निष्कासित हो गये, लालटेन के इस्तेमाल पर भी रोक

RJD से तेजप्रताप आउट! शिवानंद तिवारी का दावा- दल से निकालने की जरूरत ही नहीं पड़ी खुद निष्कासित हो गये, लालटेन के इस्तेमाल पर भी रोक

लालू प्रसाद के बड़े लाल तेजप्रताप यादव को राजद से आउट कर दिया गया है. यूं कहें कि तेजस्वी यादव ने अपने बड़े भाई तेजप्रताप को दल से साईड कर दिया। तेजस्वी के करीबी और पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने यह दावा किया है. उन्होंने साफ कहा कि अब तेजप्रताप राजद में हैं कहां? हटाने की भी जरूरत नहीं पड़ी वे खुद निष्कासित हो गये. उन्हें लालटेन का प्रयोग करने से भी राजद नेतृत्व ने मना कर दिया है.

बता दें कि तेजप्रताप से राजद के बड़े नेता लगातार नाराज चल रहे हैं. पहले राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह तेजप्रताप से खफा थे. इस बीच राजद के बड़े नेता शिवानंद तिवारी ने भी तेजप्रताप को लेकर बड़ी बात कह दी है. शिवानंद तिवारी ने हाजीपुर में प्रेस कॉन्फेंस के दौरान कहा कि तेजप्रताप यादव अब राजद में नहीं है. उन्होंने अलग संगठन बना लिया है. बता दें कि तेजप्रताप ने हाल ही में छात्र जनशक्ति परिषद नाम का एक संगठन बनाया है. इस संगठन के माध्यम से वे अपनी राजनीति कर रहे हैं. वे राजद की बैठक से भी दूरी बनाए हुए हैं. मंगलवार को राजद के प्रशिक्षण शिविर के दौरान भी लालू यादव तेजप्रताप को लेकर कोई चर्चा नहीं की थी.

बता दें कि राजद के पहले प्रशिक्षण शिविर के दौरान लालू प्रसाद यादव ने बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव की तो तारीफ की थी, लेकिन तेजप्रताप के बाड़े में एक शब्द तक भी नहीं कहा था. उन्होंने कहा था कि तेजस्वी के नेतृत्व में राजद का प्रभाव बिहार में बढ़ा है. इसकी चर्चा ममता बनर्जी और तमाम बड़े नेता करते है. इस राजद में तेजस्वी के बढ़ते कद को देखते हुए तेजप्रताप भी हैरान है. उन्होंने कई बार भाई तेजस्वी यादव और राजद के बड़े नेता पर गंभीर आरोप लगा चुके हैं. बता दें कि कुछ दिन पहले ही उन्होंने दिल्ली में लालू यादव को बंधक बनाए जाने की बात कही थी.

शिवानंद तिवारी ने कुशेश्वरस्थान और तारापुर विधानसभा के हो रहे उपचुनाव मामले को लेकर दावा किया कि उनके पार्टी के उम्मीदवार की जीत पक्की है. इसके साथ ही उन्होंने कांग्रेस पर जोरदार निशाना साधा और कहा कि बिहार में क्षेत्रीय पार्टी मजबूत है. ऐसे में कांग्रेस को अपना उम्मीदवार नहीं खड़ा करना चाहिए था, लेकिन कांग्रेस के बिहार प्रभारी भक्त चरण दास को सूचना दिए जाने के बाद भी कांग्रेस ने अपना उम्मीदवार उतारा है. उन्होंने कहा कि इससे बुरा असर पड़ेगा, लेकिन राजद उम्मीदवारों की जीत होगी.


Find Us on Facebook

Trending News