तेजप्रताप को राबड़ी आवास के गेट पर ही रोक दिया गया, लालू भी नहीं दिला सके अपने बेटे को घर में एंट्री

तेजप्रताप को राबड़ी आवास के गेट पर ही रोक दिया गया, लालू भी नहीं दिला सके अपने बेटे को घर में एंट्री

पटना. राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव लंबे अंतराल के बाद बिहार पहुंचे हैं. इस बीच उन्हें स्वागत करने के लिए बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यदाव, तेजप्रताप यादव और प्रेदश अध्यक्ष जगदानंद सिंह सहित राजद के कई वरिष्ठ नेता पटना एयरपोर्ट पर आए. तेजप्रताप यादव अपने पिता लालू यादव को एयरपोर्ट से रिसिव कर राबड़ी आवास तक ले गये, लेकिन वहां उन्हें अंदर जाने की इजाजत नहीं मिली. राबड़ी आवासा के गेट पर ही लालू के बड़े लाल को रोक दिया गया. रोके जाने से आग बबूला हुए तेजप्रताप ने प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह पर जमकर भड़ास निकाली.

राबड़ी आवास के गेट तक ही अनुमति थी- तेजप्रताप

इस दौरान तेजप्रताप यादव ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि उन्हें राबड़ी आवास के गेट तक ही आने की अनुमति थी. गेट के बार उन्होंने अपने पिता को कॉल कर अपने आवास पर पांच मिनट तक चलने के लिए कहा, लेकिन पिता जी को जगदानंद सिंह, सुनिल यादव और संजय यादव ने रोक दिया. तेज प्रताप ने कहा कि उन्होंने अपने पिता के लिए अपने आवास पर व्यवस्था की थी, लेकिन पिता को जाने नहीं दिया गया.

भक्तचरण है भकचोन्हर दास- लालू

कांग्रेस के बिहार प्रभारी भक्त चरण दास पर बड़ा हमला बोलते हुए लालू प्रसाद ने कहा कि भक्त चरण दास भकचोंहर दास है. कुशेश्वरस्थान सीट कांग्रेस को हारने और जमानत जब्त कराने के लिए दे देते ? कांग्रेस से क्या गठबंधन होगा, क्या मतलब है गठबंधन का? लाल प्रसाद का कांग्रेस को लेकर तेवर काफी तल्ख था. लालू ने अपने अँदाज में कांग्रेस के बिहार प्रभारी की हवा निकाल दी और कहा कि भकचोंधर की बात का कोई मतलब नहीं है.

भक्तचरण दास ने राजद पर बोला था हमला

बता दें, दो दिन पहले बिहार कांग्रेस प्रभारी भक्त चरण दास ने राजद पर बड़ा हमला बोला था. उन्होंने कहा था कि राजद का पर्दे के पीछे से बीजेपी से मिलीभगत है. अब बिहार में कांग्रेस महागठबंधन का हिस्सा नहीं है. अगले लोकसभा चुनाव में कांग्रेस सभी चालीस सीटों पर चुनाव लड़ेगी.



Find Us on Facebook

Trending News